script MP Election 2023: हर चुनाव में बदल जाता है मतदाताओं का मिजाज, नतीजों में भारी अंतर | MP election 2023 The account of votes received by BJP-Congress in Assembly, Lok Sabha Municipal Corporation elections | Patrika News

MP Election 2023: हर चुनाव में बदल जाता है मतदाताओं का मिजाज, नतीजों में भारी अंतर

locationइंदौरPublished: Nov 25, 2023 07:54:09 am

Submitted by:

Sanjana Kumar

विधानसभा, लोकसभा और नगर निगम चुनावों में भाजपा-कांग्रेस को मिले मतों का लेखा-जोखा...

assembly_election_mp_ratlam_vidhan_sabha_seats.jpg

मोहित पांचाल. माना जाता है कि हर दल का परंपरागत वोट बैंक होता है और कुछ ही प्रतिशत इधर-उधर होते हैं, लेकिन इंदौर जिले के मतदाताओं का मिजाज जरा हटकर है। वे हर चुनाव में अलग मन बनाते हैं। पिछले विधानसभा, लोकसभा और नगर निगम के चुनाव का रिकॉर्ड इसका सबूत है। सिर्फ इंदौर-4 ही स्थिर क्षेत्र है। जिले की बाकी आठ सीटों पर कुछ नहीं कहा जा सकता है।

पांच साल पहले हुए विधानसभा चुनाव में कांटे की टक्कर रही तो छह माह बाद हुए लोकसभा चुनाव में इंदौर ने सारे रेकॉर्ड तोड़ दिए। सबसे बड़ा उदाहरण इंदौर-एक विधानसभा है। यहां 8163 वोटों से कांग्रेस ने झंडे गाड़े थे तो छह माह बाद 1 लाख 2 हजार से अधिक वोटों से भाजपा ने जीत दर्ज की। इंदौर-दो में भाजपा विधानसभा 71 हजार तो लोकसभा एक लाख से ज्यादा वोटों से जीती, लेकिन नगर निगम में आंकड़ा 33 हजार पर आ गया। पांच नंबर में महापौर को हार का सामना करना पड़ा, जबकि लोकसभा में 34 हजार से अधिक मतों से भाजपा जीती थी।

तीन चुनाव के जीत के आंकड़े

इंदौर-एक

विधानसभा 2018: 8,163 (कांग्रेस)

लोकसभा 2019: 1,02,683 (भाजपा)

निगम 2022: महापौर- 15,702 (भाजपा), पार्षद -30,616 (भाजपा)

इंदौर-दो

विधानसभा 2018: 71,011 (भाजपा)

लोकसभा 2019 : 1,03,021 (भाजपा)

निगम 2022: महापौर-35,999 (भाजपा) , पार्षद-32,968 (भाजपा)

इंदौर-तीन

विधानसभा 2018: 5,751 (भाजपा)

लोकसभा 2019: 25,402 (भाजपा)

निगम 2022: महापौर -3,844 (भाजपा), पार्षद -7,047 (भाजपा)

इंदौर-चार

विधानसभा 2018: 43090 (भाजपा)

लोकसभा 2019: 78,142 (भाजपा)

निगम 2022: महापौर- 40,481 (भाजपा), पार्षद -38,397 (भाजपा)

इंदौर-पांच

विधानसभा 2018: 1133 (भाजपा)

लोकसभा 2019: 34,528 (भाजपा)

निगम 2022: महापौर- 5651 (कांग्रेस), पार्षद- 29,393 (भाजपा)

राऊ

विधानसभा 2018: 5703 (कांग्रेस)

लोकसभा 2019: 79,931 (भाजपा)

निगम 2022: महापौर- 30,877 (भाजपा), पार्षद - 24,422 (भाजपा)

(सिर्फ आठ वार्ड हैं, बाकी ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत चुनाव में भी भाजपा का पलड़ा भारी रहा।)

देपालपुर

विधानसभा 2018: 9,044 (कांग्रेस )

लोकसभा 2019: 55,203 (भाजपा)

निगम 2022: महापौर- 6,401 (भाजपा), पार्षद- 2,444 (भाजपा)

(सिर्फ दो वार्ड हैं विधानसभा में, बाकी ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत चुनाव में भाजपा को वोट मिले।)

सांवेर

विधानसभा 2018: 2945 (कांग्रेस)

लोकसभा 2019: 67,646 (भाजपा)

निगम 2022: महापौर- 5,304 (भाजपा), पार्षद -4,514 (भाजपा)

(सिर्फ दो वार्ड हैं, बाकी ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत चुनाव में भाजपा भारी।)

महू

विधानसभा 2018: 7157 (भाजपा)

लोकसभा 2019: करीब 60 हजार (भाजपा)

(पंचायत चुनाव में कांग्रेस का पलड़ा भारी रहा।)

तीन चुनाव में कुल वोटों का अंतर

विधानसभा 2018: 1,02,287 (भाजपा की बढ़त)

लोकसभा 2019: 5,46,556 (भाजपा की बढ़त, महू विधानसभा को छोड़कर)

नगर निगम 2022: महापौर- 1,33,497 (भाजपा की बढ़त), पार्षद - 1,69,801 (भाजपा की बढ़त)

ये भी पढ़ें: MP Election 2023: टेबल बढ़ाना चाहते थे राजन, कलेक्टर बोले-जगह कम
ये भी पढ़ें : mp election 2023 मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने दिए निर्देश सुबह 8 बजे से मतगणना, सबसे पहले डाक मतपत्रों की गिनती, तैयारियां पूरी

ट्रेंडिंग वीडियो