तीन हजार से ज्यादा मकान बनाएगा नगर निगम

Arjun Richhariya

Publish: Dec, 07 2017 03:37:31 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
तीन हजार से ज्यादा मकान बनाएगा नगर निगम

इसी माह आएंगे टेंडर, अफसरों का दावा- जल्द शुरू होगा काम

इंदौर. हाउसिंग फॉर ऑल के तहत तीसरे चरण में नगर निगम 3 हजार से ज्यादा मकान बनाने जा रही है। इसी महीने टेंडर आएंगे और खुलेंगे। यदि सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही काम शुरू हो जाएगा। ऐसा दावा निगम अफसरों ने किया है। सबके पास खुद का आवास हो, इस सपने को पूरा करने में केंद्र और राज्य सरकार सहित स्थानीय निकाय मिलकर प्रयासरत हैं। इसके लिए साल 2022 तक का लक्ष्य रखा गया है। इसी के चलते इंदौर शहर और आसपास के क्षेत्र में नगर निगम को मिली जमीन पर पहले और दूसरे चरण के तहत मकान बनाने का काम शुरू हो गया है। अब तीसरे चरण का काम करने की योजना निगम ने बना ली है और टेंडर जारी कर दिए, जो कि इसी महीने 16 तारीख तक आएंगे और खोले जाएंगे। तीसरे चरण में निगम 3 हजार 780 आवासीय इकाई बनाएगी, जो कि गरीब और मध्यम वर्गीय परिवार के लिए रहेंगे। मकान बनने के बाद निगम इनका अलॉटमेंट लॉटरी सिस्टम के जरिए करेगा और बैंक से अपनी ग्यारंटी पर लोन भी दिलाएगा।
4 साल में सबके पास होगा अपना घर
इधर, निगम अफसरों का कहना है कि सबके लिए आवास योजना यानी हाउसिंग फॉर ऑल के तहत लोगों को आवासीय इकाई बनाकर देने की योजना साल 2022 तक है, जिसे पूरा करने में 4 साल बचे हैं। इसके मद्देनजर आवासीय इकाई का निर्माण करने के साथ लॉटरी सिस्टम से आवंटन शुरू कर दिया गया है। साथ ही बैंक से लोन दिलाने के लिए फॉर्म भी भरवाना शुरू कर दिए हैं।
जगह कर रहे चिह्नित
हाउसिंग फॉर ऑल के तहत आवासीय इकाई बनाने के लिए निगम को कलेक्टोरेट के जरिए कई जगह जमीन मिल गई है। पिछले दिनों इंदौर विकास प्राधिकरण के अनापत्ति पत्र देने के बाद 5 जगह और जमीन निगम को मिली है। अब कलेक्टोरेट के नजूल विभाग और प्राधिकरण से मिली जमीन में से किस जगह पर तीसरे चरण के मकान बनाने हैं, उसको चिह्नित करने में निगम लगा है।
तीसरे चरण के टेंडर इसी महीने आ जाएंगे
हाउसिंग फॉर ऑल के तहत तीसरे चरण में बनने वाली आवासीय इकाई को लेकर महापौर-आयुक्त के निर्देश पर टेंडर जारी कर दिए हैं, जो इसी महीने आएंगे।
तीसरे चरण में 3 हजार 780 आवासीय इकाई बनेंगी। जगह तय की जा रही है।
डीआर लोधी, प्रभारी अधीक्षण यंत्री, हाउसिंग फॉर ऑल

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned