scriptThere is a need to be afraid of 'Corona' even after vaccination | क्या 'कोरोना' से बच्चों के लिए खतरा बरकरार है ? जानिए क्या कहते हैं डॉक्टर | Patrika News

क्या 'कोरोना' से बच्चों के लिए खतरा बरकरार है ? जानिए क्या कहते हैं डॉक्टर

अभी सब खुला है, कोड प्रतिबंध नहीं है इसलिए सावधानी बरती जाए .....

इंदौर

Published: November 29, 2021 06:21:08 pm

इंदौर। कोरोना के नए वैरिएंट की दस्तक के बाद एक बार फिर से सतर्कता बढ़ा दी गई है। कोरोना को लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान की अहम् बैठक के बाद जिले में एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन पर विशेष सतर्कत बढ़ाई है। मास्क, सैनिटाइजर, सोशल डिस्टेंस को लेकर फिर से सख्ती की जाएगी। जिला प्रशासन के अधिकारियों ने लोगों से अपील की है कि अभी सब खुला है, कोड प्रतिबंध नहीं है इसलिए सावधानी बरती जाए।

untitled_3_5733064_835x547-m.jpg
Corona virus

कोरोना वायरस के नए म्यूटेशन ओमिक्रॉन के सामने आने के बाद से भारत सरकार लगातार स्थिति पर नजर रख रही है. कोरोना के नए म्यूटेशन B.1.1529 जिसे डब्लूएचओ ने ओमिक्रॉन का नाम दिया। WHO ने जो ताजा अपडेट जारी किया है उसके मुताबिक कोरोना पीड़ितो को फिर से कोरोना होने का खतरा है। अभी पुरानी वैक्सीन के ओमिक्रोन पर काम करने का सबूत नहीं मिला है। यही वजह है भारत सरकार भी इसे गंभीरता से ले रही है। कोरोना के एक बार फिर से तेजी से बढ़ने पर सीधी बात डॉ. रवि डोसी, सीनियर पल्मेनोलॉजिस्ट के साथ...

Q. क्या कोरोना से अब डरने की जरूरत है?

A. बिल्कुल, शहर में केस बढ़ रहे हैं, जो संकेत है कि नए वैरिएंट के खतरे को देखते हुए सतर्क होना जरूरी है।

Q. शहर में फिलहाल कम ही केस सामने आए हैं?

A. लहर की शुरुआत कम केस से ही होती है। पिछले वर्ष भी नवंबर-दिसंबर माह से ही केस बढ़ने लगे थे

Q. वैक्सीन के दोनों डोज लेने के बाद भी खतरा रहेगा ?

A. जिन्होंने दोनों डोज नहीं लिए। हैं. उन्हें तुरंत वैक्सीन लगवा लेना। चाहिए। वैक्सीन लगवा चुके लोग इससे अधिक प्रभावित नहीं होंगे।

Q. क्या अब तीसरे डोज की जरूरत महसूस हो रही है?

A. जिन लोगों को दोनों डोज लिए 6 माह पूरे हो चुके हैं, अब उन्हें बूस्टर डोज लगना चाहिए। एक स्टडी में यह बात आई है कि 6 माह बाद एंटीबॉडी कम होने लगती है।

Q. क्या बच्चों के लिए खतरा बरकरार है ?

A. बच्चों में एंटीबॉडी का स्तर घटता-बढ़ता रहता है। पहले सीरो सर्वे में एंटीबॉडी स्तर अच्छा पाया गया था लेकिन 3 माह बाद एंटीबॉडी में कितना बदलाव हुआ है यह आगामी रिपोर्ट में पता चलेगा। हालांकि उन्हें सुरक्षित रखने के लिए बड़े सतर्क रहें।

कितना घातक यह प्रमाणित नहीं पर सतर्कता जरूरी

डॉ. संजय दीक्षित, डीन, एमजीएम मेडिकल कॉलेज का कहना है कि साउथ अफ्रीका में मिला नया वैरिएंट कितना घातक है, यह चिकित्सकीय रूप से प्रमाणित नहीं है। चिकित्सा विशेषज्ञ व वैज्ञानिक फिलहाल इसकी घातकता को लेकर केवल आशंका ही व्यक्त कर रहे हैं लेकिन फिर भी वायरस के म्यूटेशन का खतरा हमेशा बना रहेगा, इसलिए सतर्कता बेहद जरूरी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्करआज जारी होगा कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं के लिए होंगे कई वादे'कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते', अमर जवान ज्योति के वॉर मेमोरियल में विलय पर राहुल गांधीVIDEO: राजस्थान का 35 प्रतिशत हिस्सा कोहरे से ढका, अब रहेगा बारिश और ओलावृष्टि का जोर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.