Standard Charterd की शानदार पहल, LGBT कम्युनिटी के लोगों को भी देगी मेडिकल सुरक्षा

  • LGBT कम्युनिटी को मिलेगा MEDICAL COVER
  • स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक का फैसला

By: Pragati Bajpai

Published: 21 May 2020, 05:14 PM IST

नई दिल्ली: कानून बन जाने के बावजूद हमारे देश में अभी भी LGBT कम्युनिटी के लोगों को संघर्ष करना पड़ता है। ऐसा ही एक संघर्ष है मेडिकल सिक्योरिटी का। इस संबंध standard charterd Bank ने शानदार शुरूआत की है। बैंक ने अपने कर्मचारी जो lgbt कम्युनिटी (lesbian, gay, bisexual, transgender) से हैं उन्हें और उनके पार्टनर को मेडिकल कवर ( MEDICAL INSURANCE ) देने की बात कही है। ये शुरूआत पूरे भारत में की जाएगी।

2023 तक उठा सकते हैं Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana का फायदा, हर महीने मिलते हैं 10000 रुपए

इस शुरूआत के बाद अब कर्मचारी खुलकर अपनी LGBT के रूप में अपनी पहचान बता पाएंगे । यहां ध्यान देने वाली बात है कि Standard Charterd बैंक पहले भी इस तरह के काम करता रहा है। इसके पहले भी बैंक ने अपने ऐसे कर्मचारियों के लिए लिए इन्क्लूयसिव पॉलिसी के तहत employee resource group (ERG) for LGBT+ के लिए GLAD की शुरूआत की थी।

GLAD की लॉन्चिंग के बाद कंपनी ने NGOs के साथ मिलकर ऐसे कर्मचारियों के लिए काफी सेसेन्स कराए ताकि वो ऑफिस में कम्फर्टेबल काम कर सकें। इसके साथ ही साथ बैंक ने इस कम्युनिटी के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए टूल किट का भी निर्माण किया था

अब एक बार फिर बैंक ने इस कम्युनिटी के लोगों के प्रति संवेदनशीलता दिखाते हुए उन्हें मेडिकल कवर की सुरक्षा प्रदान की है। इस बारे में बात करते हुए बैंक के HR हेड सचिन गुप्ता का कहना है कि SC Bank अपने यहां lgbt कम्यूनिटी के लिए एक सुरक्षित, समावेशी और ओपेन कार्यस्थल बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। और कर्मचारियों को मिलने वाले लाभों में समानताभी बेहद जरूरी है जिसके तहत बैंक ने ये फैसला लिया है क्योंकि हमारे यहां धर्म, जाति, या किसी के ओरियेंटेशन के आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया जाता और सभी कर्मचारियों को सम्मान के साथ काम करने का मौका दिया जाता है।

Pragati Bajpai Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned