इन अपराधियों के लिए बन रही विशेष जेल, जानें इसकी खासियत

इन अपराधियों के लिए बन रही विशेष जेल, जानें इसकी खासियत

deepak deewan | Publish: Sep, 04 2018 01:43:32 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

बन रही विशेष जेल

जबलपुर. जेल का नाम सुनते ही बड़े से बड़े बदमाश भी कांप उठते हैं। खूंखार अपराधी भी जेल के नाम से थर्रा उठते हैं। ऐसे में अब शहर में एक विशेष जेल बनाई जा रही है। इस विशेष जेल में कुछ चुनिंदा अपराधियों को ही रखा जाएगा। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इस जेल के लिए हाल ही में मुख्यालय से अनुमति मिली है।

बनेगी खुली जेल, मुख्यालय से मिली अनुमति

होशंगाबाद व सतना की तर्ज पर अब जबलपुर में भी नेताजी सुभाषचंद्र बोस केंद्रीय कारागार में खुली जेल की सुविधा सजायाफ्ता कैदी उठा पाएंगे। इसमें आजीवन कारावास की सजा काट रहे कैदी परिवार के साथ रह सकेंगे। सुबह जेल से बाहर रहकर शाम को उनके जेल में लौटने की व्यवस्था भी रहेगी। इंदौर में 10 कैदियों के लिए खुली जेल की सुविधा इसी महीने शुरू होने वाली है। प्रदेश में पहली खुली जेल होशंगाबाद में बनी थी। इसके बाद सतना में भी बन चुकी है। अब जबलपुर में इसे खोला जा रहा है। इसके लिए जेल मुख्यालय का निर्देश जेल प्रशासन को प्राप्त हो चुका है।
ऐसे सजायाफ्ता आजीवान कारावास के कैदी रखे जाएंगे, जो छूटने वाले हो
इसमें ऐसे सजायाफ्ता आजीवान कारावास के कैदी रखे जाएंगे, जो छूटने वाले हों। कैदी पुनर्वास के तहत खुली जेल में रखे जाएंगे, जिससे वे वापस समाज की मुख्यधारा में शामिल हो सकें। हालांकि, इसके लिए कैदी की रजामंदी जरूरी रहेगी। आवेदन पर जेल प्रशासन अनुमति देगा। जेल अधीक्षक गोपाल ताम्रकार बताते हैं कि जेल मुख्यालय के निर्देश पर केंद्रीय कारागार में खुली जेल को लेकर प्रक्रिया चल रही है। अगले दो से तीन महीने में इसे शुरू कर दिया जाएगा।

जेलों की क्षमता भी बढ़ाई जाएगी
केंद्रीय कारागार की बिल्डिंग सौ साल से अधिक पुरानी है। अब यहां नई बिल्डिंग से लेकर बैरकों की क्षमता भी बढ़ाई जानी है। खुली जेल आम बंदियों से अलग रहेगी। इसमें क्वार्टरनुमा होंगे। कैदी और उनका परिवार साथ रहेंगे और शर्तों के साथ खुद भोजन का प्रबंध भी करेंगे।

Ad Block is Banned