जिन्होंने गोलियां खाईं वे डेढ़ साल से कर रहे इंतजार, जिन्हें चोट तक नहीं लगी उन्हें मिल गया आउट ऑफ टर्न प्रमोशन

नक्सलियों की गोलियां खाईं, बारूदी विस्फोट का सामना किया, घायल होकर महीनों तक लाचार सी जिंदगी जी लेकिन इस सबके बदले जो मिलना था उसका इंतजार आज डेढ़ साल बाद भी है।

By: Ashish Gupta

Published: 09 Sep 2021, 11:48 AM IST

जगदलपुर. नक्सलियों की गोलियां खाईं, बारूदी विस्फोट का सामना किया, घायल होकर महीनों तक लाचार सी जिंदगी जी लेकिन इस सबके बदले जो मिलना था उसका इंतजार आज डेढ़ साल बाद भी है। हम बात कर रहे हैं पिछले साल सुकमा के मीनपा में हुई मुठभेड़ में घायल जवानों की। इस मुठभेड़ में 17 एसटीएफ और डीआरजी के जवान घायल हुए थे। साथ ही 15 जवान गंभीर रूप से घायल हुए थे। सभी घायल जवानों का रायपुर के रामकृष्ण अस्पताल में उपचार चला। अब सभी ड्यूटी ज्वाइन भी कर चुके हैं लेकिन उनका प्रमोशन लटका हुआ है।

दरअसल जब घायल जवानों को रायपुर लाया गया तो उनसे मिलने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) अस्पताल पहुंचे। इस दौरान सीएम ने कहा था कि सभी घायल जवानों को जल्द आउट ऑफ टर्न प्रमोशन दिया जाएगा। जवानों से उच्च अधिकारियों ने भी इसका वादा किया था लेकिन यह आज तक पूरा नहीं हुआ।

पांच जवानों को आखिर किस आधार पर प्रमोशन
डीआरजी के जवान प्रधान आरक्षक रमेश कुंजाम ने बताया कि मार्च 2020 में मुठभेड़ के दौरान वे हैंड ग्रेनेड की चपेट में आने से गंभीर रूप से घायल हुए थे। उस दौरान सीएम समेत उच्च अधिकारियों ने उनसे प्रमोशन का वादा किया था जो अब तक पूरा नहीं हुआ है। रमेश कहते हैं कि जब वे अस्पताल में थे तभी पांच जवानों का प्रमोशन कर दिया गया था।

जब उन्होंने अधिकारियों से पूछा कि उनका प्रमोशन कब होगा तो कहा गया कि जल्द हो जाएगा। लेकिन आज डेढ़ साल बाद भी उनका प्रमोशन नहीं हो पाया है। रमेश कहते हैं कि उनके पांच साथियों को प्रमोशन किस आधार पर दिया गया और उन्हें किस आधार पर प्रमोशन नहीं दिया जा रहा है यह अफसरों को अब स्पष्ट करना चाहिए।

खुद गोलियां खाईं लेकिन कई जवानों की जान बचाई
मुठभेड़ में शामिल रहे अन्य घायल जवान कट्टम राजू, संजय कवासी , विनय दूधी , दुरवा सुब्बा ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान वे कई सामान्य रूप से घायल होने वाले जवानों को सुरक्षित बाहर निकालने में कामयाब रहे थे। खुद गोलियां खाकर उन्होंने कई जवानों की जान बचाई लेकिन इसके बावजूद उन्हें प्रमोशन से वंचित रखा गया है। प्रक्रिया के तहत प्रमोशन देंगे

आईजी बस्तर पी. सुंदरराज ने कहा, मीनपा मुठभेड़ में घायल सभी 15 जवानों को प्रमोशन देने की प्रक्रिया चल रही है। प्रक्रिया के तहत ही जो योग्य होगा उसे आउट ऑफ टर्न प्रमोशन दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: जानें कैसे बीती छत्तीसगढ़ CM के पिता की जेल में पहली रात, क्या-क्या मिली है सुविधा

यह भी पढ़ें: मंत्री सिंहदेव ने दिया बड़ा बयान, छत्तीसगढ़ की सियासी हलचल फिर तेज, जानिए क्या कहा

यह भी पढ़ें: गिरफ्तारी के बाद सीएम के पिता का बयान - ब्राह्मणवाद के खिलाफ मेरी अंतिम लड़ाई सुप्रीम कोर्ट तक चलेगी

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned