Aaj Ka Panchang : दिनभर रहेगा यह नक्षत्र, पूरे कराएगा काम

आज श्रावण शुक्ला त्रयोदशी तिथि और दिन शनिवार है। आज रात 9 बजकर 55 मिनट तक त्रयोदशी तिथि रहेगी, उसके बाद चतुर्दशी तिथि प्रारम्भ हो जाएगी। इसके साथ ही सुबह 6 बजकर 49 मिनट से शुरू होकर रविवार की सुबह 6 बजकर 52 मिनट तक पूर्वाषाढा नक्षत्र रहेगा जोकि कामों के लिहाज से शुभ रहेगा।

By: deepak deewan

Published: 01 Aug 2020, 07:25 AM IST

जयपुर.
आज श्रावण शुक्ला त्रयोदशी तिथि और दिन शनिवार है। आज रात 9 बजकर 55 मिनट तक त्रयोदशी तिथि रहेगी, उसके बाद चतुर्दशी तिथि प्रारम्भ हो जाएगी। इसके साथ ही सुबह 6 बजकर 49 मिनट से शुरू होकर रविवार की सुबह 6 बजकर 52 मिनट तक पूर्वाषाढा नक्षत्र रहेगा जोकि कामों के लिहाज से शुभ रहेगा। आज प्रदोष व्रत है। इस दिन भगवान शिव की पूजा अर्चना करना शुभ होता हैं। शनि देव के भी आज दर्शन जरूर करें, दिन शुभ रहेगा।

आज का पंचांग
श्रावण शुक्ला त्रयोदशी शनिवार विक्रम संवत् 2077।
सौर श्रावण मास प्रविष्टे 17 जिल्हिजा 10 हिजरी 1441।
सूर्य— दक्षिणायण, उत्तर गोल, वर्षा ऋतुः।
त्रयोदशी तिथि रात्रि 09 बजकर 55 मिनट तक उपरांत चतुर्दशी तिथि का आरंभ
मूल नक्षत्र प्रातः 06 बजकर 48 मिनट तक उपरांत पूर्वाषाढ़ नक्षत्र का आरंभ।
वैघृति योग प्रातः 09 बजकर 23 मिनट तक उपरांत विष्कुंभ योग का आरंभ
कौलव करण पूर्वाह्न 10 बजकर 19 मिनट तक उपरांत गर करण का आरंभ।
चंद्रमा दिन-रात धनु राशि पर संचार करेगा।

आज के शुभ मुहूर्त :
अमृत काल 2 अगस्‍त को रात 2 बजकर 4 म‍िनट से 3 बजकर 40 म‍िनट तक।
विजय मुहूर्त दोपहर 02 बजकर 42 मिनट से दोपहर 03 बजकर 36 मिनट तक।
गोधूलि मुहूर्त शाम 06 बजकर 58 म‍िनट से 7 बजकर 22 म‍िनट तक।
ब्रह्म मुहूर्त 2 अगस्‍त सुबह 4 बजकर 19 म‍िनट से 5 बजकर 1 म‍िनट तक।
निशीथ काल 2 अगस्‍त रात 12 बजकर 6 मिनट से रात 12 बजकर 49 मिनट तक।

आज के अशुभ मुहूर्त :
गुल‍िक काल सुबह 5 बजकर 43 म‍िनट से 7 बजकर 24 म‍िनट तक।
राहुकाल सुबह 09 बजे से 10 बजकर 30 म‍िनट तक।
यमगंड दोपहर 2 बजकर 8 म‍िनट से 3 बजकर 50 म‍िनट तक।

दिशा शूल: पूर्व में

शनिवार का चौघडिय़ा
दिन का चौघडिय़ा रात्रि का चौघडिय़ा
पहला- काल पहला- लाभ
दूसरा- शुभ दूसरा- उद्वेग
तीसरा- रोग तीसरा- शुभ
चौथा- उद्वेग चौथा- अमृ
पांचवां- चर पांचवां- चर
छठा- लाभ छठा- रोग
सातवां- अमृत सातवां- काल
आठवां- काल आठवां- लाभ

चौघडिय़ा का उपयोग कोई नया कार्य शुरू करने के लिए शुभ समय देखने के लिए किया जाता है. अमृत, शुभ, लाभ और चर, इन चार चौघडिय़ाओं को अच्छा माना जाता है और शेष तीन चौघडिय़ाओं- रोग, काल और उद्वेग को उपयुक्त नहीं माना जाता है.

deepak deewan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned