AAP Rajasthan Kisan Nyay Sabha : किसानों के बीच पैठ जमाने पर फोकस, जानें क्या चल रही तैयारी?

AAP Rajasthan Kisan Nyay Sabha : 26 सितम्बर को श्रीगंगानगर में होगी 'किसान न्याय सभा', सभा को सफल बनाने पर पार्टी का फोकस- कार्यकर्ता कर रहे जनसम्पर्क, गाँवों के साथ ही शहरों के लोगों को भी भेजा जा रहा 'निमंत्रण', राज्य सभा सांसद संजय सिंह, किसान संगठनों के प्रतिनिधि भी होंगे शामिल, राजस्थान की धरा से फिर उठेगा कृषि कानून मुद्द- निशाने पर रहेगी मोदी सरकार

 

By: Nakul Devarshi

Published: 22 Sep 2021, 01:51 PM IST

जयपुर।

आम आदमी पार्टी, राजस्थान की ओर से 26 सितंबर को श्रीगंगानगर में बुलाई गई किसान न्याय सभा के लिए तैयारियां ज़ोरों पर हैं। पार्टी नेतृत्व के निर्देश पर आप कार्यकर्ता इन दिनों जनसम्पर्क अभियान छेड़े हुए हैं। इसके तहत गाँवों के साथ-साथ शहरों में भी लोगों के बीच पहुंचकर सभा में पहुँचने का आमंत्रण दिया जा रहा है।

 

गौरतलब है कि आप राजस्थान की इस किसान न्याय सभा में आप पार्टी के राजस्थान प्रदेश प्रभारी व राज्यसभा सांसद संजय सिंह बतौर मुख्य वक्ता शामिल होंगे। पार्टी इस न्याय सभा के ज़रिये किसानों के मुद्दों को पुरज़ोर तरीके से उठाकर यहां एक तरह से 'शक्ति प्रदर्शन' करने की कोशिश में भी रहेगी।

 

रीट परीक्षा के दिन सभा यथावत
किसान न्याय सभा 26 सितम्बर को पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार ही रहेगी। इसमें कोई बदलाव नहीं किया जा रहा है। दरअसल, इसी दिन प्रदेश की सबसे बड़ी अध्यापक पात्रता परीक्षा- रीट का भी आयोजन होना है, ऐसे में आवागमन की संभावित परेशानी को देखते हुए किसान न्याय सभा के कार्यक्रम में बदलाव की चर्चाएं थीं। लेकिन पार्टी पदाधिकारियों ने साफ़ कर दिया है कि किसान न्याय सभा का आयोजन पूर्व में घोषित कार्यक्रम के अनुसार यथावत ही रहेगा।

 

किसानों के बीच मजबूत की जा रही पकड़
कांग्रेस-भाजपा की तर्ज़ पर अब आम आदमी पार्टी भी किसानों के एक बड़े वोट बैंक को साधने की कोशिशों में है। इसी मंशा से आप पार्टी राजस्थान ने किसान न्याय सभा के ज़रिये किसानों तक पहुंचने की कोशिशों में दिख रही है। यही वजह है कि इस कवायद की शुरुआत पार्टी प्रदेश के किसान बाहुल्य श्रीगंगानगर से करने जा रही है। सभा में विभिन्न किसान संगठनों के प्रतिनिधियों को भी बुलाया जा रहा है।

 

किसानों को न्याय दिलाएगी आप पार्टी : खेमचंद
प्रदेश सह प्रभारी खेमचंद जागीरदार ने बताया कि किसान विरोधी कृषि कानून के खिलाफ देश का किसान लगातार आंदोलन कर रहा है। केंद्र सरकार आंदोलनरत अन्नदाताओं की कोई सुध नहीं ले रही है, बल्कि उन पर लाठीचार्ज जैसी सख्ती दिखाकर हठधर्मिता की हदें पार की जा रही है। ऐसे में आम आदमी पार्टी हमेशा किसानों के साथ है और आगे भी रहेगी। किसानों को न्याय दिलाने के मकसद से ही किसान न्याय सभा का आयोजन किया जा रहा है।

Nakul Devarshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned