script Ayodhya Ram Temple: रामलला के दर्शनों को जयपुर से पैदल निकला रामसेवक | Ayodhya Ram Temple Innaugration Pm Narendra Modi Yogi Aadityanath | Patrika News

Ayodhya Ram Temple: रामलला के दर्शनों को जयपुर से पैदल निकला रामसेवक

locationजयपुरPublished: Dec 29, 2023 12:02:55 pm

Submitted by:

Umesh Sharma

अयोध्या में भव्य राम मंदिर का उद्धाटन 22 जनवरी को होगा। इस दिन को पूरा देश दिवाली की तरह मनाएगा। इसकी तैयारियां तेज हो गई। इसी बीच जयपुर से एक रामसेवक पैदल ही अयोध्या के लिए रवाना हो गया है। यह सेवक 22 जनवरी को अयोध्या पहुंचकर रामलला के दर्शन करेगा।

ram_mandir_1.jpg

अयोध्या में भव्य राम मंदिर का उद्धाटन 22 जनवरी को होगा। इस दिन को पूरा देश दिवाली की तरह मनाएगा। इसकी तैयारियां तेज हो गई। इसी बीच जयपुर से एक रामसेवक पैदल ही अयोध्या के लिए रवाना हो गया है। यह सेवक 22 जनवरी को अयोध्या पहुंचकर रामलला के दर्शन करेगा। भाजपा कार्यकर्ता राम सेवक अनुराग ने जयपुर के मोतीडूंगरी मंदिर से यह पदयात्रा शुरू की है। अनुराग ने बताया कि रामलला के विराजने के दिन देश में दिवाली का महोत्सव होगा। देश का हर नागरिक इसमें शामिल हो, इसका संदेश पदयात्रा से दिया जाएगा। यात्रा में हर दिन शाम को राम आरती भी की जाएगी। साथ ही रास्ते में राम संदेश की पत्रिका भी भरवाई जाएगी। देश के हर नागरिक का सपना 22 जनवरी को साकार होने जा रहा है। देश के प्रधानमंत्री इस दिन भव्य समारोह के जरिए रामलाल की प्राण प्रतिष्ठा करेंगे। इसके बाद 23 जनवरी से देश के हर नागरिक के लिए रामलाल का दरबार खोल दिया जाएगा, इसलिए इस यात्रा के जरिए हर नागरिक को अयोध्या आने के लिए आमंत्रित किया जाएगा।

लाखों लोग पहुंचेंगे अयोध्या

राम मंदिर का सपना 22 जनवरी को पूरा होने जा रहा है। इस साक्षी पूरा देश बनेगा। पीएम मोदी रामलला की प्राण प्रतिष्ठा प्रधानमंत्री मोदी अपने हाथों से करेंगे, जिसके लिए प्रधानमंत्री मोदी 22 जनवरी को मुहूर्त के समय से पहले राम मंदिर पहुंच जाएंगे। प्राण प्रतिष्ठा के विधि विधान के मुताबिक सबसे पहले प्रधानमंत्री प्रभु श्रीराम को आइने में उनका चेहरा दिखाएंगे। प्राण प्रतिष्ठा के समय गर्भगृह में पीएम मोदी के अलावा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, संघ प्रमुख मोहन भागवत और मंदिर के आचार्य मुख्य पुजारी उपस्थित रहेंगे। 23 जनवरी से श्री राम मंदिर आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। मंदिर ट्रस्ट की ओर से हर दिन 2 लाख लोगों के रहने और खाने की नि:शुल्क व्यवस्था की गई है।

ट्रेंडिंग वीडियो