राजस्थान: SUICIDE के बढ़ते मामलों पर BJP की अपील, 'सरकार जल्द करे कानूनों में संशोधन'

प्रदेश में बढ़ते आत्महत्या प्रकरणों से जुड़ा मामला, प्रदेश भाजपा ने उठाई कानूनों में संशोधन की मांग, मौजूदा कानूनों को बताया जा रहा लचर, सरकार को गंभीरता दिखाने की अपील

 

By: nakul

Updated: 24 Sep 2020, 10:04 AM IST

जयपुर।

प्रदेश भाजपा ने आत्महत्याओं के बढ़ते ग्राफ को देखते हुए राज्य सरकार से सम्बंधित कानूनों में संशोधन कर उन्हें और मजबूत बनाने की मांग की है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता व विधायक रामलाल शर्मा ने कहा है कि पिछले 2 महीनों में राजस्थान में आत्महत्याओं की संख्या में बहुत तीव्र गति से बढ़ोतरी हो रही है। ऐसे में ज़रूरी हो गया है कि सरकार इस दिशा में ध्यान दे और जल्द कानूनों में संशोधन कर काम करें।

मुख्यतः दो कारणों से हो रही आत्महत्याएं
शर्मा ने ये भी त्तर्क दिया है कि आत्महत्याओं के मुख्य रूप से दो कारण माने जा रहे हैं। एक कारण बढ़ी हुई ब्याज दर पर लिए पैसों के लिए सूदखोर द्वारा टॉर्चर किया जाना और दूसरा युवाओं का जुए की लत में फंसते चला जाना। इन्हीं दो कारणों की वजह से आत्महत्या के प्रकरण ज्यादा बढ़ रहे हैं।

ढीले कानून, आरोपित हो रहे रिहा
चौमूं विधायक ने कहा कि वर्तमान में बने हुए कानून इतने प्रभावी नहीं कि इन पर अंकुश लगाया जा सके। जुए से जुड़े मामलों में पुलिस आरोपितों को पकड़ कर तो ले जाती है और कार्रवाई भी करती है, लेकिन जमानती अपराध होने के कारण उनको तत्काल रिहा कर दिया जाता है। इसकी वजह से जुआ खेलने वाले अपराधियों का मनोबल बढ़ गया है।

अब तो घर बैठकर खेल रहे जुआ
शर्मा ने कहा कि अब तो जुआ खेलने का तरीका भी बदल गया है। लोग हाईटेक तरीके से घर बैठकर ही जुआ खेल रहे हैं। अब इसके लिए पहले जैसे लोगों को इकट्ठा होने की आवश्यकता भी नहीं है। ऐसे में इस तरह की प्रवर्ती पर जल्द से जल्द अंकुश लगाना ज़रूरी हो गया है।

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned