प्रदेश के 10 नगर निगम में पैचवर्क के लिए 194.44 करोड़ रुपए आवंटित

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य के बजट में निकायों की तंग आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए सार्वजनिक निर्माण विभाग के माध्यम से सड़कों का पैचवर्क कराने की घोषणा की थी। इसके लिए एक हजार करोड़ रुपए की राशि का आवंटन किया गया था। इस घोषणा के अनुरूप प्रदेश के 10 नगर निगम में मेजर पैचवर्क काम के लिए 194.44 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की गई है।

By: Umesh Sharma

Published: 29 Jul 2021, 06:46 PM IST

जयपुर।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य के बजट में निकायों की तंग आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए सार्वजनिक निर्माण विभाग के माध्यम से सड़कों का पैचवर्क कराने की घोषणा की थी। इसके लिए एक हजार करोड़ रुपए की राशि का आवंटन किया गया था। इस घोषणा के अनुरूप प्रदेश के 10 नगर निगम में मेजर पैचवर्क काम के लिए 194.44 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की गई है।

स्वायत्त शासन विभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार इस राशि का उपयोग किन सड़कों के पैचवर्क पर किया जाना है। इसके लिए एक कमेटी का गठन किया गया है। इस कमेटी में डीएलबी के उप निदेशक क्षेत्रीय को संयोजक, पीडब्ल्यूडी के एसीएस जोनल और संबंधित नगर निगम संभागीय अ धीक्षण अभियंता को इस कमेटी का सदस्य बनाया गया है। यह कमेटी सात दिन के भीतर जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में बनी कमेटी से प्राप्त कार्यों में प्राथमिकता के आधार पर सड़कों का चयन करेगी। इसके लिए जनप्रतिनिधियों की राय भी ली जाएगी। इसके बाद पीडब्ल्यूडी के मुख्य अभियंता को सड़कों की सूची सौंपी जाएगी, ताकि निविदा की जा सके।

एक हजार करोड़ का आवंटन, प्रस्ताव ज्यादा राशि के मिले

बजट में पैचवर्क के लिए 1 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था। लेकिन जिला कलेक्टर्स की अध्यक्षता में बनी कमेटियों ने ज्यादा राशि के कार्यों के प्रस्ताव सौंपे हैं। इसके आधार पर ही प्रदेश के सभी 10 नगर निगम को यह राशि आवंटित की गई है। बजट घोषणा के अनुसार इस राशि से प्रत्येक नगर निगम क्षेत्र में 30 किमी लंबाई में सड़कों का पैचवर्क कराया जाएगा। जबकि नगर परिषद में 20 और नगरपालिका क्षेत्र में 10 किमी सड़क का पैचवर्क होगा।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned