राजस्थान में कोरोना टीकाकरण अभियान का CM अशोक गहलोत ने किया शुभारंभ, जानिए खास बातें

राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य स्तरीय कोविड वैक्सीनेशन कार्यक्रम का आगाज किया। इस के साथ ही सभी जिलों में कोरोना टीकाकरण शुरू हो गया ।

By: santosh

Updated: 16 Jan 2021, 12:52 PM IST

जयपुर । कोरोना महामारी के बीच भारत में दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इसका शुभारंभ किया। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य स्तरीय कोविड वैक्सीनेशन कार्यक्रम का आगाज किया। इसके साथ ही सभी जिलों में कोरोना टीकाकरण शुरू हो गया ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लंबे समय से वेक्सीन का इंतजार था, जो अब खत्म हो गया है । कोरोना से जंग लड़ने में सरकार ने कोई कमी नहीं रखी। सबसे पहले लॉकडाउन राजस्थान में लगाया गया। इस दौरान ट्रेनों और बसों के जरिए लोगों को उनके घर भेजा गया। गहलोत ने कहा कि कोरोना प्रबंधन के चलते भीलवाड़ा देश-विदेश में चर्चा का विषय बना। केंद्र सरकार ने भी भीलवाड़ा मॉडल की तारीफ की।

CM ने कहा कि कोरोना के चलते जो प्रोटोकॉल लागू किया गया है, उसे वेक्सीन लगाने के बाद भी निभाना पड़ेगा। तभी हम कोरोना की चैन तोड़ पाएंगे । जनता को आश्वस्त करते हुए गहलोत ने कहा कि वैक्सीन से घबराने की ज रूरत नही है, क्योंकि काफी परीक्षण के बाद ही वैक्सीन आई है । मुख्यमंत्री ने कोरोना वारियर्स को धन्यवाद देते हुए कहा कि सभी ने मिलकर कोरोना से जंग लड़ी। अगर कोई कोरोना वॉरियर्स की ड्यूटी के दौरान मौत होती है तो राज्य सरकार उसे 50 लाख रुपए देगी।

यों दी जाएगी खुराक
जयपुर में एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य एवं नियंत्रक डॉ. सुधीर भंडारी को वैक्सीन की पहली डोज दी गई। प्रदेश में पहले दिन 161 केन्द्रों पर कोविशील्ड और जयपुर के 6 केन्द्रों पर कोवैक्सीन की डोज दी जाएगी। राजस्थान को 13 जनवरी को 2 कंपनियों के 563500 वैक्सीन डोज मिले हैं, जिन्हें सभी जिलों को आवश्यकता के अनुसार उपलब्ध कराया गया है। कार्मिक को 0.5 एमएल की पहली खुराक दी जाएगी। इसके 28 दिन बाद दूसरी खुराक उसी कंपनी की 0.5 एमएल दी जाएगी।

...ताकि प्रभावित न हों अन्य सेवाएं
- कोरोना वैक्सीनेशन के दौरान अन्य स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित ना हों, इसके लिए सप्ताह में 4 दिन वैक्सीनेशन किया जाएगा।
- गुरुवार, रविवार व राजकीय अवकाश के दिन वैक्सीनेशन नहीं होगा।
- 31 जनवरी तक 161 स्थलों पर प्रतिदिन के अनुसार टीकाकरण किया जाएगा।

ऐसे केन्द्र चुने, जहां से रैफर की पूरी सुविधा हो
सभी वैक्सीन केन्द्रों का चयन इस तरह किया गया है कि उपचार और जरूरत के समय व्यक्ति को रैफर करने की पूर्ण व्यवस्था उपलब्ध हो। कलक्टरों को कहा गया है कि सीएमएचओ व आरसीएचओ के साथ वीसी व अन्य जरिए से सम्पर्क में रहें। राज्य से 6 लाख से अधिक कार्मिकों का डेटा 14 जनवरी शाम तक अपलोड किया जा चुका है।

इसमें सरकारी, निजी व केन्द्रीय मंत्रालयों के स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं। इनमें राज्य के 487381 सरकारी व निजी, 6758 केन्द्रीय कर्मचारी हैं। 101761 फ्रंटलाइन वर्कर्स का डेटा भी अब तक अपलोड हो चुका है। प्रथम चरण में 3345 सरकारी अस्पतालों एवं 2969 निजी अस्पताल चिह्नित किए गए हैं। इनमें से 3736 केन्द्रों की जानकारी कोविन सॉफ्टवेयर में अपलोड की गई है।

कोवैक्सीन पर कोई रोक नहीं
राज्य के अधिकारियों ने कोवैक्सीन पर अभी रोक की खबर को निराधार बताया है। दरअसल, यह वैक्सीन जयपुर के 6 केन्द्रों पर लगाई जाएगी। इसके लिए केन्द्र भी चयनित कर लिए गए हैं।

coronavirus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned