script जयपुर में यहां रखी गई है EVM, कड़े पहरे में है मशीनें, हथियारबंद जवान है तैनात | EVM kept in Commerce College and Rajasthan College for security | Patrika News

जयपुर में यहां रखी गई है EVM, कड़े पहरे में है मशीनें, हथियारबंद जवान है तैनात

locationजयपुरPublished: Nov 26, 2023 12:12:24 pm

Submitted by:

Manish Chaturvedi

प्रदेश में विधानसभा चुनाव खत्म हो गए है।

कड़ी सुरक्षा में EVM, कॉमर्स कॉलेज तथा राजस्थान कॉलेज में रखी गई, 3 दिसंबर को होगी मतगणना
कड़ी सुरक्षा में EVM, कॉमर्स कॉलेज तथा राजस्थान कॉलेज में रखी गई, 3 दिसंबर को होगी मतगणना

जयपुर। प्रदेश में विधानसभा चुनाव खत्म हो गए है। जयपुर में कॉमर्स कॉलेज तथा राजस्थान कॉलेज में स्ट्रांग रूम में कड़ी सुरक्षा के बीच रखा गया है। 19 विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम को स्ट्रांग रूम में रखा गया है। स्ट्रांग रूम के बाहर त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया गया है। कॉलेज के बाहर आरएसी और स्थानीय पुलिस ने घेराबंदी कर रखी है तो वहीं कॉलेज के अंदर का हिस्सा रैपिड एक्शन फोर्स के हवाले है। रैपिड एक्शन फोर्स के जवान हथियारों के साथ सुरक्षा कर रहे हैं। इसके साथ ही स्ट्रांग रूम की सुरक्षा व्यवस्था का जिम्मा सीपीएमएफ के जवानों के हवाले है। कॉमर्स कॉलेज में दस विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम मशीने जमा की गई है वहीं राजस्थान कॉलेज में नौ विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम मशीनों को सुरक्षा के बीच रखा गया है।

जिला निर्वाचन अधिकारी प्रकाश राजपुरोहित ने बताया कि 25 नवंबर को हुए मतदान के पश्चात जेएलएन मार्ग स्थित राजस्थान कॉलेज एवं कॉमर्स कॉलेज में ईवीएम एवं वीवीपैट का संग्रहण किया गया। कॉमर्स कॉलेज में चौमूं, फुलेरा, चाकसू, किशनपोल, विद्याधर नगर, आमेर, विराटनगर, जमवारागढ़, बस्सी एवं शाहपुरा सहित कुल दस विधानसभा क्षेत्र की ईवीएम सामग्री का संग्रहण किया गया है। वहीं राजस्थान कॉलेज में झोटवाड़ा, बगरू, दूदू, सांगानेर, आदर्श नगर, सिविल लाइन्स, मालवीय नगर, हवामहल एवं कोटपूतली सहित कुल नौ विधानसभा क्षेत्रों की ईवीएम का संग्रहण किया गया है। इस व्यवस्था के सफल संचालन के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

स्ट्रांग रूम में रखी गई ईवीएम मशीनों की सुरक्षा का दारोमदार आरएसी, पुलिस, आरएएफ और सीपीएमएफ के जवानों पर है। ईवीएम मशीनों को त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे के बीच में रखा गया है। त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में सबसे बाहर आरएसी और पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। वहीं सुरक्षा के दूसरे घेरे में रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों को तैनात किया गया है। त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे का सबसे महत्वपूर्ण घेरा सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स के सशस्त्र जवानों के जिम्मे है। इसके साथ ही पुलिस के तमाम आला अधिकारी भी सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से सुरक्षा व्यवस्था पर अपनी नजर बनाए हुए हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो