कल पर नहीं, आज में जीना पसंद: सोनाली बेंद्रे

फिल्म अदाकारा सोनाली बेंद्रे का मानना है कि अब उनकी जिंदगी में डर की कोई जगह नहीं

कैंसर की जंग जीतने पर बोलीं... विदेश में कैंसर की केस स्टडी का डेटा गुड

By: imran sheikh

Published: 22 Apr 2019, 08:30 PM IST

जयपुर

कैंसर जैसी बीमारी से जंग लड़कर बाहर निकलीं फिल्म अदाकारा सोनाली बेंद्रे ने जयपुर की सरजमीं पर अपनी इस बीमारी और सर्वाइवल पर गहराई के साथ अनुभव साझा किए। सोमवार को फिक्की लेडिज ऑर्गेनाइजेशन फ्लो के कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंची सोनाली ने यहां होटल में 'लेट्स एम्ब्रेस द सनशाइनÓ सेशन में अपनी लाइफ जर्नी को फैंस के साथ शेयर किया। इस बीच सोनाली ने बताया की उनकी जिंदगी में अब डर की कोई जगह नहीं है। पति गोल्डी बहल और बच्चे के हौंसले ने उन्हें कैंसर से जंग के लिए तैयार किया। कैंसर जर्नी के बारे में सोनाली ने बताया कि इन मुश्किलों भरे दिनों में उनके पति और बेटे हमेशा उनके साथ थे। मेरे पति गोल्डी बहल हमेशा कहते थे कि अब कल पर डिपेंड मत रहो, कल क्या होगा, यह मत सोचो बल्कि आज में खुश रहो। पति की इन बातों ने मुझे हिम्मत और ताकत दी। जिसके चलते अब आज में जीना चाहती हूं।

अब तैयार होने में कम समय लगता है
कीमो ट्रीटमेंट के दौरान सोनाली को बाल हटवाने पड़े थे, इस बारे में सोनाली ने कहा, अब मेरे बाल छोटे हो गए हैं। हां इसका फायदा जरूर है मुझे अब तैयार होने में कम समय लगता है। मैं खुद को पॉजिटिव रखती हूं। खुद से कहती हूं, बाल नहीं है तो कोई बात नहीं। मैं अभी थोड़ा सहज नहीं हूं, लेकिन जल्द ही हो जाऊंगी। सोनाली ने कहा जब पहले मेरे बाल लंबे थे तो कई चीजें छुप जाया करती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। लंबे बालों की वजह से चेहरा भी छुप जाता था पर अब पूरा चेहरा दिखता है। अब कुछ नहीं छुप सकता।

नहीं जाना चाहती थी अमेरिका, हसबैंड ने दिखाई सुझबूझ
सोनाली बेंद्रे ने बताया कि उन्हें पहले ही इस बात की जानकारी अमेरिका के डॉक्टर ने दे दी थी कि उन्हें चौथे स्तर का कैंसर है और उनके बचने के आसार मात्र 30 प्रतिशत हैं। जिसके बाद उन्होंने पति गोल्डी बहल की मदद से जिंदगी के लिए संघर्ष किया। पहले उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि उन्हें इस स्तर का कैंसर हुआ है, जिसके चलते जब गोल्डी बहल ने उन्हें कहा कि वह उनके उपचार के लिए उन्हें अमेरिका लेकर जाना चाहते हैं। तब मैंने गोल्डी से कहा कि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए, क्योंकि मुंबई में अच्छे डॉक्टर हैं और उनका उपचार अच्छे से कर सकते हैं, लेकिन गोल्डी ने मेरी बात नहीं मानी और मात्र 3 दिनों के बाद उन्होंने अमेरिका की फ्लाइट पकड़ ली। चौथे दिन सोनाली को डॉक्टर ने उन्हें मेडिकल टेस्ट करने के बाद एक रिपोर्ट में उन्हें इस बीमारी के बारे में बताया गया।

फ्लो मेंबर्स के साथ खिंचवाए फोटोज
इस मौके पर सोनाली ने विदेश में कैंसर का इलाज कराने के सवाल पर कहा कि भारत में भी कैंसर का इलाज संभव है, लेकिन विदेश में कैंसर की केस स्टडी का डेटा काफी अच्छा है, वहां पर सभी तरह के कैंसर के बारे में डिटेंल मौजूद है। इस मौके पर सोनाली बेंद्रे ने फ्लो मेंबर्स के साथ फोटोज भी खिंचवाए और उनके सवालों का मुस्कुराते हुए जवाब भी दिया। इससे पूर्व चेयरपर्सन निताशा चौरडि़या और श्वेता चौपड़ा ने उनका बुके देकर वेलकम किया।

imran sheikh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned