सरकार बताए प्रवासी पक्षियों की मौत के कौनसे आंकडे़ सही

सांभर झील क्षेत्र में प्रवासी पक्षियों की मौतों की जांच का मामला। सदन में विधायक निर्मल कुमावत ने उठाया सवाल।

 

जयपुर। राजस्थान विधानसभा में प्रश्नकाल में विधायक निर्मल कुमावत ने सांभर झील में प्रवासी पक्षियों की मौत का मामला उठाया। सवाल के जवाब में वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई ने कहा कि राज्य सरकार की ओर से पूरे मामले की विस्तृत जांच करवाई गई है। वहीं, कुमावत ने कहा कि 22974 पक्षियों की मौत के आंकड़े सरकार बता रही है, लेकिन विभिन्न ऐजेसिंयों ने मौत का आंकड़ा एक लाख तक बताया है। उन्होंने कहा कि ऐजेंसियां जो बता रही है वे आंकड़े सही हैं या सरकार के। विश्नोई ने कहा कि एसडीआरएफ, नगरपालिका नावां, सिविल डिफेंस की टीम ने संयुक्त रूप से अभियान चलाया, उनके आंकडे बिल्कुल सटीक हैं। गिनती करके ही उन पक्षियों को दफनाया गया।

कुमावत ने सवाल किया कि सांभर झील का कुछ हिस्सा जयपुर और कुछ नागौर जिले में पड़ता है, लेकिन सरकार ने नागौर में पांच दिन बाद रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। इस पर मंत्री ने कहा कि जहां से पहले सूचना मिली, वहां उसी हिसाब से ऑपरेशन चलाया गया।

प्रश्नकाल में विधायक रामनारायण मीणा ने इटावा और सुल्तानपुर में स्टेडियम विकास से जुड़ा सवाल उठाया। इस पर मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि दोनों जगह कोई स्टेडियम नहीं है और ना ही कोई प्रस्ताव विचाराधीन है। इस पर मीणा ने कहा कि तीन बार सरकार पंचायत स्तर तक स्टेडियम बनाने की घोषणा कर चुकी है। मंत्री अशोक चांदना ने कहा, सरकारी संसाधनों और गुण अवगुण के आधार पर फैसला होगा।

Rajkumar Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned