बिजली चोरों पर खास नजर, खंगालेंगे पुराने मामले

जयपुर डिस्कॉम समीक्षा बैठक में दिए निर्देश
बिजली चोरी के पुराने मामलो की फिर से होगी जांच

By: anand yadav

Published: 11 Jul 2020, 11:02 AM IST

जयपुर। प्रदेश में बिजली चोरों के हौंसले पस्त करने के लिए जयपुर डिस्कॉम अब बिजली चोरी के पुराने मामलो की भी गहनता से पड़ताल शुरू कर रहा है। शुक्रवार को प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा एवं अध्यक्ष डिस्काॅम्स अजिताभ शर्मा ने विद्युत भवन में जयपुर डिस्काॅम
में विजिलेन्स चैकिंग अभियान, विद्युत आपूर्ति की गुणवत्ता, राजस्व वसूली
की स्थिति सहित विभिन्न कार्यो एवं योजनाओं में अब तक हुई प्रगति की
समीक्षा करते हुए पिन पॉइंटेड विजिलेन्स चैकिंग करने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि बिजली चोरी के अधिकांश मामलों में विद्युत निगम सिविल लायबिलिटी के तहत तय जुर्माना राशि में कुछ फीसदी शुल्क जमा कर बिजली कनेक्शन फिर से जोड़ देता है। ऐसे में मामलोंं में जुर्माने की शेष बकाया राशि की वसूली को लेकर लंबित मामलों की सूची में बढ़ोतरी होती है। बीते कई वर्षों से बिजली चोरी निरोधक पुलिस थाने के सहयोग के बाद भी बिजली चोरी प्रकरणों की रोकथाम को लेकर डिस्कॉम प्रशासन की ओर से बरती जा रही नरमी के चलते बिजली चोरों के हौंसले बुलंद हैं।

प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा एवं अध्यक्ष डिस्काॅम्स अजिताभ शर्मा ने शुक्रवार को आयोजित समीक्षा बैठक में रिपीटेड चोरी के मामलों में एफआईआर दर्ज कर नियमानुसार गिरफ्तारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। डिस्काॅम की परफार्मेन्स की समीक्षा के दौरान कमजोर प्रदर्शन की वजह से निगम के अधिशाषी अभियन्ता ओएंडएम धौलपुर बीएस गुप्ता व अधिशाषी अभियंता ओएंडएम-प्रथम झालावाड़ दिनेश कुमार गुप्ता को एपीओ किया गया है। समीक्षा बैठक में जयपुर डिस्काॅम के प्रबन्ध निदेशक एके गुप्ता, निदेशक वित्त, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सतर्कता, तीनों संभाग के संभागीय मुख्य अभियन्ता व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

anand yadav Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned