राजस्थान पर फिर टिड्डियों का हमला, अब आसमान से रखेंगे नजर

locust attack जयपुर के सामोद में ड्रोन से निगरानी

By: Ankita Sharma

Updated: 28 May 2020, 01:37 PM IST

जयपुर। कोरोना वायरस के महासंकट के बीच भारत सरकार के साथ ही लोगों खासकर किसानों के लिए टिड्डियों का हमला नई मुसीबत बन गया है। राजस्थान सहित, उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश में इन टिड्डियों ने किसानों की नाक में दम कर दिया है। पाकिस्तान की ओर से लाखों करोड़ों की संख्या में आ रहे ये टिडडी दल दिनों दिन बढ़ते जा रहे हैं। सरकार और किसानों की ओर से किए जा रहे सभी प्रयास विफल होते दिख रहे हैं। कीटनाशकों के छिड़काव के बावजूद इन दलों की संख्या कम नहीं हो रही है। वहीं किसान कहीं बर्तन तो कहीं डीजे बजाकर इन टिड्डियों पर काबू करने की कोशिश कर रहे हैं।


राजस्थान में एक बार फिर से बड़ी संख्या में टिड्डियों ने हमला बोल दिया है। बीते दिन धौलपुर में आने के बाद आज सुबह टिड्डियों के दलों ने श्रीगंगानगर पर धावा बोल दिया है। आज सुबह श्रीगंगानगर के कई क्षेत्रों में हजारों की संख्या में टिड्डों का झुंड दिखे। देखते ही देखते टिड्डियों की ऐसी बाढ़़ आई कि पूरा आकाक्ष अट गया। इन टिड्डियों से अपनी फसलों को बचाने के लिए लोगों ने थालियां बजाकर शोर किया। माना जा रहा है कि टिड्डियों के इस हमले से हजारों हैक्टेयर क्षेत्र को नुकसान हुआ है। वहीं अब टिड्डियों की आवाजाही की पुख्ता और पुरी जानकारी रखने के लिए राजस्थान का कृषि विभाग ड्रोन की मदद ले रहा है।

कृषि विभाग ने बुधवार को जयपुर के समोद में टिड्डियों की आवाजाही पर नजर रखने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया। कृषि विभाग के आयुक्त डॉ ओम प्रकाश चौधरी का कहना है कि हम ड्रोन का उपयोग उन इलाकों में टिड्डियों की निगरानी के लिए करेंगे जिनपर निगरानी रखना हमारे लिए मुश्किल काम है। गौरतलब है कि यूपी और एमपी बॉर्डर तक पहुंची टिड्डियों के दल बुधवार को धौलपुर में आ पहुंचे थे। धौलपुर की सीमा के पांच किलोमीटर दूर तक इन दलों ने आतंक फैला दिया। इन टिड्डियों को भगाने के लिए लोग बर्तन पीटते दिखे। दूसरी ओर सरकार इन टिड्डियों पर काबू करने के तमाम प्रयास कर रही हैं, लेकिन इनपर काबू पाना टेड़ी खीर साबित हो रहा है।

Ankita Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned