मेट्रो की सवारी में जयपुर ने चैन्नई आैर लखनऊ को पीछे छोड़ा

santosh trivedi

Publish: Oct, 13 2017 09:24:37 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
मेट्रो की सवारी में जयपुर ने चैन्नई आैर लखनऊ को पीछे छोड़ा

मेट्रो में सफर करने के मामले में गुलाबीनगर ने चैन्नई और लखनऊ जैसे शहरों को पीछे छोड़ दिया है।

जयपुर। Metro Train में सफर करने के मामले में गुलाबीनगर ने चैन्नई और लखनऊ जैसे शहरों को पीछे छोड़ दिया है। देश के जिन शहरों में जयपुर के साथ या बाद में मेेट्रो की शुरुआत हुई, वहां के मुकाबले Jaipur Metro में यात्रियों की संख्या अधिक है। जयपुर के बाद चैन्नई में मेट्रो ट्रेन की शुरुआत हुई थी। वहां रोजाना 13 हजार 500 लोग मेट्रो में सफर करना पसंद कर रहे हैं।

 

यात्रियों की संख्या लगभग तीन गुना बढऩे की उम्मीद
हाल ही लखनऊ में मेट्रो शुरू हुई, जहां पहले महीने का औसत करीब 19 हजार यात्री रोजाना का सामने आया है। मेट्रो प्रशासन का मानना है बड़ी चौपड़ तक मेट्रो सुविधा शुरू होने के बाद यात्रियों की संख्या लगभग तीन गुना बढऩे की उम्मीद है। जयपुर मेट्रो के निदेशक परिचालन एवं प्रणाली सीएस जीनगर ने बताया कि अब तक 187 लाख लोग मेट्रो Train में यात्रा कर चुके हैं।

 

जयपुर के 68 हजार लोगों ने स्मार्ट कार्ड ले रखे हैं
मेट्रो में प्रतिदिन भले ही 18 हजार यात्री बैठ रहे हैं लेकिन इससे करीब 4 गुना अधिक लोगों के पास इसके स्मार्ट कार्ड हैं। शहर के 68 हजार लोगों ने स्मार्ट कार्ड ले रखे हैं। हालांकि मेट्रो चलने से पहले ही स्मार्ट कार्ड बनने लगे थे लेकिन इसमें बढ़ोतरी नोटबंदी के दौरान हुई। इसके अलावा 90 हजार से अधिक स्कूली बच्चे भी मेट्रो का आनंद ले चुके हैं।

 

कहां कितने यात्री
शहर------------------------------------------------यात्री
जयपुर मेट्रो----------------------------------------22000
चैन्नई मेट्रो -----------------------------------------13500
कोच्चि मेट्रो----------------------------------------32000
लखनऊ मेट्रो-------------------------------------19000

(ये आंकड़े मेट्रो शुरू होने से अब तक के हैं। कोच्चि में मेट्रो शुरू हुए तीन माह हुए हैं। जयपुर मेट्रो के पहले तीन माह की बात करें तो 37 हजार यात्री रोजाना सफर करते थे)

 

फर्जी पुलिसकर्मी बन ठगी करने वालों ने ऐसे बिछाया जाल,फिर ले गए वृद्ध महिला से गहने

 

घूसखोर पटवारी को पकड़वाने के लिए डेढ़ महीने मजदूरी कर जुटाई राशि

 

आडवाणी, गडकरी ने तत्काल कुर्सी छोड़ी फिर अमित शाह क्यों नहीं छोड़ रहे?

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned