पपला गुर्जर: 'हार्डकोर' क्रिमिनल को खोज रहीं राजस्थान-हरियाणा की ENCOUNTER स्पेशलिस्ट टीम

पपला गुर्जर: 'हार्डकोर' क्रिमिनल को खोज रहीं राजस्थान-हरियाणा की ENCOUNTER स्पेशलिस्ट टीम

Nakul Devarshi | Updated: 10 Sep 2019, 03:54:31 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

सूत्रों के अनुसार Rajasthan और Haryana Police पपला गुर्जर ( Papla Gurjar ) की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है। सूत्र बताते हैं कि पुलिस को अब तक मिले इनपुट्स में उसके हरियाणा सीमा पर नारनौल के आस-पास होने की खबर है। पपला की तलाश में दोनों राज्यों की STF भी जुटी हुई है।

जयपुर।

राजस्थान के अलवर ज़िले के बहरोड़ थाने पर हमला कर साथियों संग फरार हुए मोस्ट वांटेड पपला गुर्जर ( Most Wanted Criminal Papla Gurjar ) की तलाश सरगर्मी से की जा रही है। उसे खोज निकालने के लिए बाकायदा राजस्थान ( Rajasthan Police ) और हरियाणा ( Haryana Police ) पुलिस की एनकाउंटर स्पेशलिस्ट टीम ( Encounter Specialist Teams ) को लगाया है। वो इसलिए क्योंकि पपला गुर्जर न सिर्फ राजस्थान के हरियाणा पुलिस की भी नाक में दम कर चुका है। वो एक नहीं बल्कि कई बार अपने साथियों के साथ मिलकर राजस्थान और हरियाणा पुलिस पर हमला कर दोनों की बदनामी कर चुका है।


... तो होगा एनकाउंटर !

सूत्रों के अनुसार राजस्थान और हरियाणा पुलिस पपला गुर्जर की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है। सूत्र बताते हैं कि पुलिस को अब तक मिले इनपुट्स में उसके हरियाणा सीमा पर नारनौल के आस-पास होने की खबर है। पपला की तलाश में दोनों राज्यों की एसटीएफ भी जुटी हुई है।


जानकारी के मुताबिक़ रेवाड़ी, नारनौल व महेन्दगढ़ इलाके में सर्च आपरेशन चल रहा है। इसे राजस्थान की एसओजी और ईआरटी के सतह ही हरियाणा की एसटीएफ टीम अंजाम दे रही है। इधर, हरियाणा एसटीएफ ने पपला गुर्जर गैंग के करीब एक दर्जन बदमाशों को हिरासत में ले रखा है।

इस बीच चर्चाएं हैं कि पपला गुर्जर हरियाणा के बड़े नेताओं के माध्यम से सरेंडर भी कर सकता है। यदि सरेंडर नहीं होता तो पपला के एनकाउंटर की संभावनाओं से भी इंकार नहीं किया जा सकता।

कड़ी से कड़ी जोड़ रही टीमें

पपला गुर्जर को पुलिस ने जिस स्कॉर्पियो के साथ पकड़ा था उसके मालिक सुभाष पुत्र बलजीत निवासी शाहड़ोद ने सोमवार को भिवाड़ी पुलिस उपाधीक्षक देवेन्द्र सिंह के समक्ष सरेंडर कर दिया। इधर पुलिस को पता चला है कि पकड़े जाने से पहले गुरुवार को पपला ने भिवाड़ी के बॉम्बे कलेक्शन शोरूम से कपड़े भी खरीदे थे। वहीं एटीएस ने बुरहेड़ा से तीन जने सुखवीर, जीतू और कालू को हिरासत में लिया। प्रारम्भिक जांच में सामने आया है कि बहरोड़ कांड वाले दिन कुछ लोगों ने बुरहेड़ा आकर इनकी मदद से रात गुजारी थी।


कांग्रेस और भाजपा नेता के फार्म हाउस में दबिश

एसओजी की टीम ने रविवार को नारनौल के कुलताजपुर रोड स्थित एक कांग्रेसी नेता, उसके पड़ोसी, सतनाली में भाजपा नेता के फार्म हाउस में दबिश दी। इसके अलावा झुंझुनूंं जिले के गांव पथराना सहित बहरोड़, भिवाड़ी व तिजारा आदि में दबिश दी गई, लेकिन एसओजी को विशेष सुराग हाथ नहीं लगे।

कोड भाषा से दिया पुलिस को चकमा

कुख्यात बदमाश विक्रम उर्फ पपला गुर्जर अपनी कोड भाषा से बहरोड़ पुलिस को चकमा देने में कामयाब रहा। एसओजी की पूछताछ में विनोद स्वामी ने स्वीकार किया कि थाने में उसके सामने पुलिसकर्मी ने अपने मोबाइल से पपला गुर्जर की उसके साथी से बात कराई थी।


हुई थी सौदेबाज़ी!

रिमांड पर चल रहे विनोद स्वामी ने यह बात स्वीकार की है कि थाने की हवालात के पास स्थित एक कोठरी में सौदेबाजी पर बात हुई। इसी दौरान एक पुलिसकर्मी ने अपने मोबाइल से पपला की उसके किसी साथी से बात कराई थी, जिसमें उसने 20 से कम नहीं 70-80 लाने की बात कही थी। वहां खड़े पुलिसकर्मी ने समझा कि पपला अपने साथी से पैसे की बात कर रहा है। जबकि पपला ने अपने साथी को 20 बदमाश और 70-80 कारतूस लाने का इशारा किया था।


कुख्यात बदमाश पपला गुर्जर को भगाने की साजिश में गिरफ्तार हिस्ट्रीशीटर शराब ठेकेदार विनोद स्वामी की लग्जरी गाडिय़ां बहरोड़ व नीमराणा सहित आसपास के पुलिस थानों में अधिकारियों की सेवा में खड़ी रहती थी।


पपला गुर्जर बन दी जान से मारने की धमकी

कोटकासिम क्षेत्र के एक व्यक्ति को कुख्यात अपराधी पपला गुर्जर के नाम से जान से मारने की धमकी मिली है। धमकी के बाद घर के बाहर सादावर्दी में करीब एक दर्जन हथियारबंद जवानों की तैनाती कर दी गई है। वह अलवर में प्रोपर्टी और रिकवरी का काम करता है।


पिछले कुछ साल से उसका कोटकासिम क्षेत्र के विक्रम यादव से विवाद है। कंट्रोल रूम से मैसेज मिलते ही तत्काल एक पुलिस टीम बुधविहार इलाके में उस व्यक्ति के घर की तलाश में भेजी गई। दूसरी टीम फोन करने वाले का पता करने में जुट गई।


अंतरराज्यीय बैठक में अपराधियों की सूची का आदान-प्रदान

राजस्थान व हरियाणा पुलिस के अधिकारियों की अंतरराज्यीय बैठक सोमवार को नारनौल में हुई। दोनों प्रदेशों के पुलिस अधिकारियों ने अंतरराज्यीय अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए अपने-अपने राज्यों के मोस्ट वांटेड की सूची एक-दूसरे को सौंपी।


सूत्रों के अनुसार बैठक में राजस्थान के अलवर, सीकर व झुंझनूं तथा हरियाणा के महेन्द्रगढ़, रेवाडी, नारनौल सहित अन्य जिलों के पुलिस अधिकारी शामिल हुए। हरियाणा की ओर से करीब 65 कुख्यात अपराधियों की सूची राजस्थान पुलिस को सौंपी। राजस्थान पुलिस ने भी करीब 35 अपराधियों की सूची हरियाणा को सौंपी है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned