रात दो बजे थाने के मालखाने पहुंचा हैड़ कांस्टेबल, रिवाल्वर निकालकर खुद को गोली मार ली

श्रीराम के साथियों ने अपने अफसरों को बताया कि वह परिवार के सदस्यों में चल रहे आपसी विवाद से भी परेशान था और कई बार इसका जिक्र भी करता था। लेकिन कभी ऐसा नहीं लगा कि वह खुद की जान ले लेगा। थाना परिसर के पास जिस क्वाटर में वह रह रहा था वहां उसका परिवार उसके साथ नहीं रहता था परिवार गांव में ही रह रहा था।

By: JAYANT SHARMA

Published: 21 Sep 2020, 12:02 PM IST

जयपुर
जयपुर ग्रामीण में स्थित सामोद पुलिस थाने के एक पुलिसकर्मी ने खुद को गोली मार ली और जान दे दी। आज सवेरे इस बारे में जब पुलिस स्टाफ को जानकारी मिली तो स्टाफ ने अफसरों को बताया और बाद में पुलिस अफसर मौके पर पहुंचे। सामोद पुलिस ने बताया कि हैड कांस्टेबल श्रीराम सामोद थाने में कई महीनों से तैनात थे। थाना परिसर के पास ही स्थित क्वाटर में श्रीराम रह रहे थे और यहीं से हर रोज ड्यूटी पर आ रहे थे। बीती रात भी ड्यूटी के बाद वे अपने क्वाटर पर गए थे। देर रात क्वाटर बंद कर श्रीराम ने खुद को गोली मार ली। आज सवेरे जब काफी देर तक वे बाहर नहीं आए तो साथियों ने क्वाटर पर जाकर देखा। वहां देखा तो पाया कि श्रीराम का खून से सना शव पड़ा था। घटना के बाद जयपुर ग्रामीण पुलिस विंग के अफसर और एमएलए रामलाल शर्मा भी मौके पर पहुंचे।

पूरी तरह से जांच पड़ताल के बाद शव को राजकीय अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया गया। बताया जा रहा है कि क्वाटर से एक सुसाइड़ नोट भी मिला है और इसमें पारिवारिक कारणों के चलते यह कदम उठाने का जिक्र है। हांलाकि इस सुसाइड़ नोट को सार्वजनिक नहीं किया गया है। इसे पुलिस अफसरों के हवाले कर दिया गया है। गौरतलब है कि कुछ महीने पहले चुरू जिले के राजगढ़ थाने के थानाधिकारी विष्णुदत्त ने भी सुसाइड़ कर लिया था। उनकी मौत के बाद जांच को लेकर मामले ने तूल पकडा था और उसके बाद जांच सीबीआई को सौंपी गई थी। उन्होने परेशान होकर सुसाइड़ करने की बात लिखी थी। कुछ राजनेताओं का भी इस केस में नाम आया था। उनकी मौत की जांच की जा रही है।

रात दो बजे आया रिवाल्वर लेने
श्रीराम के साथियों ने अपने अफसरों को बताया कि वह परिवार के सदस्यों में चल रहे आपसी विवाद से भी परेशान था और कई बार इसका जिक्र भी करता था। लेकिन कभी ऐसा नहीं लगा कि वह खुद की जान ले लेगा। थाना परिसर के पास जिस क्वाटर में वह रह रहा था वहां उसका परिवार उसके साथ नहीं रहता था परिवार गांव में ही रह रहा था। देर रात करीब दो बजे वह किसी काम से थाने आया और उसके बाद चला गया। बाद में पता चला कि वह मालखाने से रिवाल्वर लेने आया था। तडके उसकी मौत की खबर से पूरा थाना सुन्न रह गया।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned