मिठाई के डिब्बे में एक लाख देने वाले ठेकेदार की डायरी में छिपे राज

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने धनतेरस के दिन नगर निगम अधिकारी को मिठाई के डिब्बे में एक लाख रुपए देने वाले ठेकेदार के पास से एक डायरी भी मिली है।

By: kamlesh

Published: 22 Nov 2020, 02:26 PM IST

जयपुर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने धनतेरस के दिन नगर निगम अधिकारी को मिठाई के डिब्बे में एक लाख रुपए देने वाले ठेकेदार के पास से एक डायरी भी मिली है। यह डायरी सर्च के दौरान ठेकेदार के घर पर मिली।

एसीबी सूत्रों के मुताबिक डायरी में नगर निगम के कई अधिकारियों के नाम लिखे हैं, जिनको अन्य ठेकेदारों से कमीशन की रकम एकत्र कर पहुंचाने के संबंध में लेखा जोखा है। एसीबी डायरी में मिले नामों के अनुसार संबंधित अधिकारियों की भूमिका की पड़ताल की जा रही है। गौरतलब है कि एसीबी ने नगर निगम के अधिशाषी अभियंता शेरसिंह चौधरी को ठेकेदार गोविंद अग्रवाल उर्फ गोपी से एक लाख रुपए लेते रंगे हाथ पकड़ा था। एसीबी ने कमीशन की राशि देने के मामले में ठेकेदार को भी गिरफ्तार किया था।

दस वर्ष पहले के कुछ अधिकारियों के नाम!:
एसीबी सूत्रों के मुताबिक डायरी में नगर निगम में वर्तमान सहित दस वर्ष पहले पदस्थ रह चुके कुछ अधिकारियों के नाम भी कमीशन लेने के तौर पर दर्ज हैं। इन अधिकारियों को ठेकेदारों द्वारा राशि दी जाने का लेखा जोखा मिला है। हालांकि एसीबी अधिकारियों ने मामले में अनुसंधान जारी होना बताया है।

नहीं थम रहा बंधी का मामला
परिवहन विभाग और नगर निगम में एसीबी ने कई बार बंधी प्रकरण को लेकर कार्रवाई की। इसके बावजूद इन दोनों विभागों में बिल भुगतान और अन्य मामलों के बदले बंधी लेने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। नगर निगम में तो आम जनता से जुड़े मामलों के ठेकों में कमीशन का खेल चल रहा है। हालांकि दोनों ही विभागों के कई अधिकारियों और कर्मचारियों पर एसीबी की नजर है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned