जाता मानसून प्रदेश में कर रहा झमाझम

Mohan Murari | Publish: Sep, 04 2018 12:09:17 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के कई जिलों में बारिश की चेतावनी

जयपुर। प्रदेश से विदा हो रहा मानसून जाते—जाते प्रदेश के कई जिलों में झमाझम कर रहा है। इससे जहां लोगों सहित किसानों में खुशी है। वहीं जयपुर की लाइफ लाइन बीसलपुर में पानी नहीं आने से राजधानी के बाशिंदों की चिंता बढ़ रही है। आज कल रात से अब तक सवाई माधोपुर, नागौर और करौली में बारिश का दौर चल रहा है।

नागौर में रिमझिम बारिश का दौर जारी
नागौर जिला मुख्यालय समेत आसपास के गांवों में बारिश का दौर जारी। करीब डेढ़ महीने बाद हुई बारिश से किसानों के चेहरे खिले। इस बारिश से मुरझाई फसल को जीवनदान मिलने की उम्मीद है। बारिश से सड़कों पर जल भराव की स्थिति बनी है। मामूली बारिश में सड़कों पर जमा हो गया पानी। बारिश ने नगर परिषद के दावों की पोल खोल कर रख दी है।

नागौर में पिछले काफी लंबे समय से हो रही उमस ओर तपिश के बाद शहर में मंगलवार सुबह आसमान से राहत की बूंदे बरसी। जिससे शहरवासियों ने चैन की सांस ली। वहीं बारिश में बच्चों ने भी नहाने का आनंद लिया। कुछ ही देर तक चली बारिश में सड़के लबालब हो गई तो वहीं नालों व नालियों की सफाई नहीं होने के कारण उनका गंदा पानी टूटी हुई सड़कों पर आ गया। जिससे आमजन के साथ वाहन चालकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा।
करौली में जल भराव
करौली जिला मुख्यालय से रात से बारिश होने से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है । रामद्वारा के पास हाथी घटा के रास्ते पर नाले में पानी भर गया है। इससे सैकड़ों घरों में पानी घुस गया इससे लोगों का लाखों रुपए का सामान भी गया लोगों को रात छत में गुजारनी पड़ी है। इसकी सूचना पर सुबह नगर परिषद सभापति राजाराम गुर्जर JCB को साथ लेकर पहुंचे उन्होंने रास्ते से अतिक्रमण हटाया था जब पानी निकासी व्यवस्था शुरू कराई। इस दौरान कुछ लोगों ने अपना थाने पर मामूली विरोध भी किया, जिन्हें समझा दिया गया है हटाने का काम जारी है इसके अलावा तीन दरवाजा पानी की आवक हुई है पानी की आवक क्षेत्र के लोगों में करौली के प्रमुख बांध पानी आ रहा है। केला देवी सपोटरा के तेजी से पानी आ रहा है।

जयपुर में बादल छाए

मौसम तंत्र में आए बदलाव से प्रदेश के कई जिलों में मूसलाधार बारिश हुई है। वहीं अगले दो तीन दिन फिर से मूसलाधार बारिश का दौर जारी रहने के पूर्वानुमान मौसम केंद्र ने जारी किए हैं। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के उत्तर पश्चिमी इलाकों सक्रिय चक्रवाती तंत्र और प्रदेश के दक्षिण पश्चिमी हिस्सों में बन रहे निम्न वायुदाब क्षेत्र के असर से अगले दो तीन दिन जयपुर समेत अलवर और सवाई माधोपुर में भारी बारिश होने का अंदेशा है। पश्चिम के कुछ जिलों में भी तेज बारिश होने का अनुमान है।

राजधानी में बीती रात बादलों की आवाजाही बढ़ी और शहर के कुछ इलाकों में हल्की बौछारें गिरी। बीते दो दिन से जारी बारिश के दौर से दिन और रात के तापमान में गिरावट होने पर मौसम में ठंडक महसूस हुई है। आज सुबह भी शहर में बादलों की आवाजाही बनी रही है। स्थानीय मौसम केंद्र के अनुसार शहर में बादल छाए रहने बारिश होने की संभावना है।

बीसलपुर बांध में छाई मायूसी

बीते चौबीस घंटे में सवाई माधोपुर और आस पास के जिलों में तेज बारिश हुई वहीं टोंक जिले में भी बारिश हुई है। वहीं दूसरी ओर बीसलपुर बांध से मायूसी की खबर है। बांध का जलस्तर बीते चौबीस घंटे से स्थिर है लेकिन बारिश नहीं होने व बांध में पानी की आवक कम होने पर आगामी दिनों में बांध के जलस्तर में और गिरावट होने का अंदेशा है। आज सुबह सात बजे बांध का जलस्तर 309.25 आरएल मीटर रिकॉर्ड हुआ है।

यहां बरसे मेघ

बीते चौबीस घंटे में धौलपुर के अंगई में 113 मिमी यानि करीब साढ़े चार इंच बारिश हुई वहीं अलवर 90, राजगढ 85, कोटकासिम 75, सिलिसेढ़ 55 मिमी पानी बरसा। दौसा के नांगल राजावतान में 70,सिकरी 65, रामगढ़ पचवारा 58, करौली में 68, भीलवाड़ा के गंगापुर में 43, चित्तौड़ के राश्मि 57 और गंगरार 50, टोडाभीम 60, सवाई माधोपुर 40 गंगापुर सिटी 61 और उदयपुर के मावली में 39 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned