20 जिलों के 90 नगरीय निकायों के लिए मतदान जारी, दांव पर 6 मंत्रियों और उप मुख्य सचेतक की प्रतिष्ठा

राजस्थान के 20 जिलों के 90 नगरीय निकायों में सुबह 8 बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। सुबह 8 बजे शुरू हुआ मतदान शाम पांच बजे तक चलेगा।

By: santosh

Updated: 28 Jan 2021, 09:56 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
जयपुर। राजस्थान के 20 जिलों के 90 नगरीय निकायों में सुबह 8 बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। सुबह 8 बजे शुरू हुआ मतदान शाम पांच बजे तक चलेगा। 90 नगरीय निकायों से 13 निकाय ऐसे हैं, जो 6 मंत्री और सरकारी उप मुख्य सचेतक के क्षेत्र से संबंधित हैं। ऐसे में इन मंत्रियों पर जल्द होने वाले मंत्रिमण्डल विस्तार में मजबूती से जगह बनाए रखने को लेकर निकायों में जीत दिलाने का दबाव रहेगा।

यही वजह है कि मंत्रियों की प्रतिष्ठा दाव पर लगी हुई है। यह चुनाव यह भी तय करेगा कि मंत्रियों की अपने क्षेत्र में कामकाज के हिसाब से मजबूत स्थिति बनी है या फिर कमजोर हुई है। मंत्रियों और उप मुख्य सचेतक का जिन निकायों में प्रभाव रहेगा, इनमें अजमेर नगर निगम के साथ ही 3 नगर परिषद और 9 नगर पालिकाएं शामिल हैं।

हाल ही 12 जिलों के 50 निकायों में हुए चुनाव में जिन मंत्रियों की प्रतिष्ठा दाव पर थी, उनमें से अधिकांश ने बोर्ड बना दिए। जिन्हें बहुमत नहीं मिला था, उन्होंने भी निर्दलीयों को साथ लेकर बोर्ड बनाए। ऐसे में यही दबाव इन मंत्रियों पर बना है। 50 निकायों में से कांग्रेस ने 36 निकायों में जोड़तोड़ कर बोर्ड बनाए थे।

6 मंत्री और उप मुख्य सचेतक की प्रतिष्ठा दांव पर
- गोविंद सिंह डोटासरा, प्रदेश अध्यक्ष व शिक्षा मंत्री : नगर पालिका लक्ष्मणगढ़
- भंवर सिंह भाटी, उच्च शिक्षा मंत्री : नगर पालिका देशनोक
- सुखराम विश्नोई, वन मंत्री : नगर पालिका सांचौर
- अशोक चांदना, खेल मंत्री : नगर पालिका नैनवां (नगर परिषद बूंदी की भी रहेगी जिम्मेदारी)
- सालेह मोहम्मद, अल्पसंख्यक मामलात मंत्री : नगर पालिका पोकरण (नगर परिषद जैसलमेर की भी रहेगी जिम्मेदारी)
- रघु शर्मा, चिकित्सा मंत्री : नगर पालिका केकड़ी और नगर पालिका सरवाड़ (अजमेर से एक मात्र मंत्री होने के नाते नगर निगम अजमेर की भी रहेगी जिम्मेदारी)
- महेंद्र चौधरी, सरकारी उप मुख्य सचेतक : नगर पालिका नावां (नागौर नगर परिषद की भी रहेगी जिम्मेदारी)

22 विधायक और प्रदेश संगठन की नई टीम की भी प्रतिष्ठा दांव पर
सरकार के दो साल के कामकाज के आधार पर शहरी क्षेत्रों में कांग्रेस विधायकों ने अपना जनाधार कितना मजबूत किया है। मंत्रियों के साथ विधायक और प्रदेश कांग्रेस संगठन की नई टीम की भी परीक्षा है। मंत्रिमण्डल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों में जगह पाने के लिए इन्हें भी अपने क्षेत्र से चुनाव जिताना होगा।

विधायक और निकाय जहां चुनाव
दीपेंद्र सिंह शेखावत : नगर पालिका श्रीमाधोपुर
परसराम मोरदिया : नगर पालिका लोसल
मुकेश भाकर : नगर पालिका लाडऩूं
रामनिवास गावडिय़ा : नगर पालिका परबतसर
विजयपाल मिर्धा : नगर पालिका डेगाना
प्रशांत बैरवा :नगर पालिका निवाई
सुदर्शन सिंह रावत :नगर पालिका देवगढ़
जेपी चंदेलिया : नगर पालिका चिड़ावा
विजेंद्र ओला : नगर पालिका बगड़
रीटा चौधरी : नगर पालिका मंडावा
डॉ. जितेंद्र सिंह : नगर पालिका खेतड़ी
राजेंद्र गुढ़ा : नगर पालिका उदयपुरवाटी
अमित चाचान : नगर पालिका नोहर
भंवर लाल शर्मा : नगर पालिका सरदार शहर
नरेंद्र बुड़ानिया : नगर पालिका तारानगर
राजेंद्र बिधूड़ी : नगर पालिका बेंगू
राकेश पारीक : नगर परिषद विजयनगर
हरीश मीणा : नगर पालिका उनियारा और देवली
राजकुमार शर्मा : नगर पालिका नवलगढ़ और मुकुंदगढ़
हाकम अली : नगर पालिका फतेहपुर और रामगढ़ शेखावटी
रामलाल मीणा : नगर परिषद प्रतापगढ़ और नगर पालिका छोटी सादड़ी
गणेश घोघरा : नगर परिषद डूंगरपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned