राजस्थान: पंचायत चुनाव में आसान नहीं Congress-BJP की डगर, 'रोड़े' बन रहे RLP-BTP-BSP

Zila Parishad and Panchayat Samiti Election in Rajasthan Latest Updates: पंचायत चुनाव 2020- प्रथम चरण आज, कांग्रेस-भाजपा का समीकरण बिगाड़ रहे छोटे दल, कई जगहों पर त्रिकोणीय मुकाबले से चुनाव बना दिलचस्प

By: nakul

Published: 23 Nov 2020, 11:07 AM IST

जयपुर।

गांवों की सरकार कहे जाने वाले जिला परिषद व पंचायत समिति चुनाव में प्रदेश में सत्तारूढ़ दल कांग्रेस और मुख्य विपक्षी दल भाजपा के समीकरण अन्य राजनीतिक पार्टियां प्रभावित करती दिख रही हैं। ये वे पार्टियां हैं, जिन्हें कांग्रेस और भाजपा कुछ साल पहले तक टक्कर में ही नहीं मानती थीं। इनमें राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी), भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और माकपा शामिल हैं।

कांग्रेस वोट बैंक में बीटीपी की सेंध!
ग्रामीण और जनजातीय क्षेत्रों में कांग्रेस पार्टी की पकड़ सालों से मजबूत रही है। लेकिन बीते वर्षों में बीटीपी के चुनावी मैदान में उतरने के साथ ही कांग्रेस का पारंपरिक वोट बैंक बीटीपी के पाले में जाता दिखाई दिया है। ऐसे में इन जनजातीय बाहुल क्षेत्रों में कांग्रेस के लिए बीटीपी सबसे बड़ी चुनौती और खतरा बनी हुई है।

इन क्षेत्रों में बीटीपी के बढ़ते जनाधार का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बीते विधानसभा चुनाव में बीटीपी ने दो सीटों पर जीत दर्ज की थी जबकि कुछ अन्य सीटों पर मामूली अंतर से हारते हुए कडा मुकाबला दिया था।

आरएलपी का भी बढ़ा दायरा ‘ख़तरा’
कांग्रेस और भाजपा के विकल्प के तौर पर गठित हुई आरएलपी ने भी दोनों प्रमुख पार्टियों को कई सीटों पर टक्कर दी हुई है। आरएलपी के प्रत्याशी उतरने से कई जगहों पर मुकाबला त्रिकोणीय और दिलचस्प हो चला है।

पार्टी के संयोजक और सांसद हनुमान बेनीवाल अपना प्रभुत्व रखने वाले कुछ क्षेत्रों में ही फोकस करते हुए धीरे-धीरे कदम आगे बढ़ा रहे हैं। आरएलपी भले ही फिलहाल एनडीए में शामिल है, लेकिन भाजपा के वोट बैंक में लगातार सेंध लगा रही है।

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned