script700 Years Old Water Harvesting: Another amazing feat of Paliwal in des | 700 साल पुरानी वाटर हार्वेस्टिंग: पालीवालों का एक और कमाल रेगिस्तान में झील, झील से खड़ीन और खड़ीन से खेती | Patrika News

700 साल पुरानी वाटर हार्वेस्टिंग: पालीवालों का एक और कमाल रेगिस्तान में झील, झील से खड़ीन और खड़ीन से खेती

- 20 किलोमीटर तक फैली बुझ झील
-09 खड़ीन जुड़े जिससे करते चने और गेहूं की खेती
- सैकड़ों तालाबों में आज भी नहीं रीतता है पानी हमारी विरासत

जैसलमेर

Updated: May 26, 2022 08:16:08 pm

बाड़मेर/जैसलमेर. रेगिस्तान के जैसलमेर में आकर बसे पालीवालों कुलधरा जैसा खूबसूरत गांव ही नहीं बसाया उन्होंने फिजूल बहने वाले बरसाती पानी को वाटरहार्वेस्टिग सिस्टम का तरीका इजाद कर 20 किमी लंबी एक झील बनाकर उनको खड़ीनों से जोड़ा और खड़ीन के पानी से खेती करने लगे। गेहूं और चने की फसल रेगिस्तान में लहलहाकर जो कमाल उन्होंने 700 साल पहले किया था, वह आज भी रेगिस्तान में जलाशयो को बरसात और उसके बाद लबालब रखने की मिसाल बना हुआ है।
पालीवाल जैसलमेर आकर बसे तो उन्होंने यहां उन गांवों को चुना जहां पानी की उपलब्धता व संभावना थी। उन्होंने यहां बरसाती पानी को सहेजने के लिए बुझ झील बनाई जो बीस किमी तक फैली । जैसलमेर जिले के काठोड़ी क्षेत्र के पूर्व में स्थित उपरला, ठाड़, उत्तर में बप व सरी खड़ीन, खींया के कणात, मूंगल, खुरालो, पदरिया, लाणेला का खड़ीन, खाभा व दामोदर के बीच स्थित बुझ झील फैली हुई है।
बड़े तालाबों में पानी भरा
कुलधरा, खाभा, जाजीया की जसेरी तलाई, काठोड़ी, धनवा, खींया, बासनपीर, लवां की जानकी नाडी, भणियाणा गांव का भीम तालाब, पीथोड़ाई, भू-गांव के तालाब आज भी अपने बरसाती जल संग्रहण को लेकर विख्यात है ।
खड़ीन और नदी का जुड़ाव
मुहारकी, रघुनाथसर, हरियासर, लाखोरिया, सोनाट, खेतरडी, नवोडा, बप, नोवोणी, मसूरडी आदि खड़ीन बने। कोटड़ी गांव से निकलने वाली काक नदी का पानी समा जाता है और इन खड़ीनों के माध्यम से गेहूं और चने की बुवाई कर फसलें ली जाती जो अन्न के साथ समृद्धि देती रही।
कर्नल जेम्स टॉर्ड ने भी लिखा
अंग्रेज शासनकाल के समय आए कर्नल जेम्स टॉड के अनुसार 'हासल कृषि की उपज का पांचवां व सातवां भाग लिया जाता था। इसकी वसूली का कार्य सामान्यत: पालीवाल ब्राह्मणों की ओर से किया जाता था। हासल के रूप में अनाज को खरीदकर उनसे प्राप्त नकद राशि को राजकोष में जमा करा दिया जाता था। जैसलमेर रियासत के आसपास के क्षेत्रों में मगरों व छोटी छोटी पहाडियों में निर्मित करीब 500 खड़ीनों की तलहटी में गेहूं व चने की खेती की जाती थी।
एक्सपर्ट व्यू
बरसाती पानी को पीने और खेती के लिए पालीवालों ने तालाब, कुएं, बावडिय़ां, बेरिया बनाई। कम पानी में ज्यादा फसल की तकनीक भी विकसित की। पालीवालों ने जितने बेहतर गांव बसाए उतनी ही बेहतरीन उनकी पानी, जलाशय और फसलों को लेकर सोच रही। - -ऋषिदत्त पालीवाल, सचिव, अखिल भारतीय पालीवाल समाज
700 साल पुरानी वाटर हार्वेस्टिंग: पालीवालों का एक और कमाल रेगिस्तान में झील, झील से खड़ीन और खड़ीन से खेती
700 साल पुरानी वाटर हार्वेस्टिंग: पालीवालों का एक और कमाल रेगिस्तान में झील, झील से खड़ीन और खड़ीन से खेती

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Floor Test: महाराष्ट्र विधानसभा में शिंदे सरकार का शक्ति परीक्षण आज, स्पीकर ने उद्धव खेमे को दिया झटकाहिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बड़ा हादसा, सैंज घाटी में गिरी बस, बच्चों समेत 16 लोगों की मौतपीएम मोदी आज जाएंगे आंध्र प्रदेश, अल्लुरी सीताराम राजू की प्रतिमा का करेंगे अनावरणदिल्ली विधानसभा का दो दिवसीय सत्र आज से होगा शुरू, विधायकों की सैलरी समेत कई विधेयकों को मिल सकती है मंजूरीलालू यादव ICU में भर्ती, बेहोशी की हालत में लाए गए थे अस्पताल, कल सीढ़ी से गिरने पर टूटी थी हड्डीपंजाब: मुख्यमंत्री भगवंत मान आज कैबिनेट का करेंगे विस्तार, पांच नए मंत्री लेंगे शपथजम्मू-कश्मीर: अमरनाथ यात्रा के बीच अनंतनाग में आतंकी हमला, आतंकियों ने पुलिसकर्मी को मारी गोलीकोपनहेगन के शॉपिंग मॉल में ताबड़तोड़ फायरिंग, 7 लोगों की मौत, कई घायल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.