मनाया दुग्ध दिवस, हुई विचार गोष्ठी

पोकरण. स्थानीय कृषि विज्ञान केन्द्र के कृषि वैज्ञानिकों ने संस्थान पर गोष्ठी आयोजित कर कृषि विभाग के कार्मिकों के साथ संविधान एवं राष्ट्रीय दुग्ध दिवस मनाया।

By: Deepak Vyas

Published: 27 Nov 2020, 06:44 PM IST

पोकरण. स्थानीय कृषि विज्ञान केन्द्र के कृषि वैज्ञानिकों ने संस्थान पर गोष्ठी आयोजित कर कृषि विभाग के कार्मिकों के साथ संविधान एवं राष्ट्रीय दुग्ध दिवस मनाया। गृह वैज्ञानिक डॉ.चारू शर्मा ने संविधान के अधिकार और कर्तव्य एवं हमारे राष्ट्र, समाज या समुदाय के जीवन में संविधान के महत्व पर प्रकाश डाला। केन्द्र के शस्य वैज्ञानिक डॉ.कृष्णगोपाल व्यास व कृषि प्रसार वैज्ञानिक सुनीलकुमार शर्मा ने बताया कि यदि संविधान या लिखित कानून न होने की स्थिति में आमजन को कई समस्याओं से रूबरू होना पड़ता। उन्होंने संविधान की गरिमा को कैसे बनाए रखा जा सके विषय पर प्रकाश डाला तथा कार्मिकों को संविधान की शपथ दिलवाई। पशुपालन विशेषज्ञ डॉ.रामनिवास ढाका ने बताया की प्रतिवर्ष 26 नवम्बर को राष्ट्रीय दुग्ध दिवस दूध और दूध उद्योग से संबंधित गतिविधियों के प्रचार एवं लोगों में आजीवन दूध एवं दूध उत्पादों के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि भारत में वर्ष 1999 में दुग्ध उत्पादन पर प्रथम स्थान प्राप्त किया था, जो आज भी 187 मिलियन टन उत्पादन के साथ चल रहा है। वर्तमान में डेयरी और पशुपालन क्षेत्र राष्ट्रीय सकल घरेलू उत्पाद का लगभग 4.5 प्रतिशत योगदान देता है और लगभग 100 मिलियन ग्रामीण परिवारों विशेष रूप से भूमिहीन, छोटे या सीमांत किसानों के लिए आय का एक प्राथमिक स्रोत बनकर उभरा है। सरकार ने हाल ही में डेयरी किसानों के लिए भी किसान क्रेडिट कार्ड योजना का विस्तार किया है। जिससे पशुपालकों के पास नकदी उपलब्ध होगी, ताकि वह पशुपालन को बेहतर प्रबंधन एवं रखरखाव के साथ कर सके। क्षेत्र में बकरी, भेड़, ऊट एवं देशी गाय के दूध का उत्पादन होता है, जिसकी जरुरत कई चीजों में होती है। उन्होंने दुग्ध उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए पशुओं की नस्ल सुधार पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि किसानो को दुग्ध मूल्य संवर्धन, पैकेजिंग, दुग्ध पाउडर आदि कार्यों को अपनाकर एवं ग्राहकों को सीधे बेचकर पशुपालन एवं डेयरी को एक नई दिशा दी जा सकती है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned