Video: केन्द्रीय दल के सदस्यों ने किया दौरा, अकाल का लिया जायजा

- ग्रामीणों व किसानों से मुलाकात कर सुनी समस्याएं

By: Deepak Vyas

Published: 20 Jan 2021, 08:14 PM IST

पोकरण. अंतर मंत्रालयिक केन्द्रीय दल के अधिकारियों ने बुधवार को भणियाणा उपखंड क्षेत्र के विभिन्न गांवों का दौरा कर ग्रामीणों से मुलाकात की तथा सूखा प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया। जिले में कम बारिश के कारण अकाल की स्थिति के चलते केन्द्र सरकार की ओर से अंतर मंत्रालयिक केन्द्रीय दल भेजकर जिले में सूखा प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया गया। बुधवार को दल के सदस्य एसडी शर्मा, सुभाष ने जिला कलक्टर आशीष मोदी, अतिरिक्त जिला कलक्टर हरिसिंह मीणा, उपखंड अधिकारी राजेश विश्रोई के साथ जालोड़ा पोकरणा, भणियाणा व माड़वा गांव का दौरा किया। माड़वा ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आयोजित बैठक में ग्रामीणों ने क्षेत्र में अकाल की स्थिति के कारण चारे पानी की कमी, रोजगार जैसी समस्याओं के बारे में जानकारी दी। ग्रामीणों ने उन्हें बताया कि यहां के लोगों का आय का मुख्य स्त्रोत कृषि व पशुपालन है। बारिश देरी से होने के कारण अनाज की खेती नहीं हो सकी तथा कम बारिश के कारण पशुचारे का भी पर्याप्त मात्रा में उत्पादन नहीं हुआ। तालाबों, नाडियों व टांकों में भी पानी की कमी है। क्षेत्र के लोगों का मुख्य व्यवसाय कृषि है, जो बारिश की कमी के कारण नहीं हो सका तथा चारे की कमी के कारण पशुओं को बचाना भी मुश्किल हो रहा है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में पर्याप्त मात्रा में रोजगार की भी कमी है। यहां प्रत्येक परिवार के पास गाय, भेड़, बकरी आदि की बहुतायतता है। सूखा चारा एक हजार रुपए प्रतिक्विंटल भी उपलब्ध नहीं हो रहा है। ऐसे में पशुओं को बचाना सबसे बड़ा चुनौतीपूर्ण कार्य हो गया है। ग्रामीणों ने अनुदानित दरों पर पशुचारा उपलब्ध करवाने, बेसहारा पशुओं के लिए गोशालाओं व पशु शिविरों की व्यवस्था करने की मांग की। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में पानी की कमी के कारण ग्रामीण 500 से 800 रुपए प्रतिट्रैक्टर टंकी पानी लाकर अपनी प्यास बुझा रहे है। अकाल के कारण रोजगार नहीं होने से परिवार का पालन पोषण भी मुश्किल हो रहा है। उन्होंने टैंकरों से जलापूर्ति करने की भी मांग की। उन्होंने मनरेगा के तहत अधिकाधिक कार्य शुरू कर लोगों को रोजगार देने की भी बात कही।
शुरू किए जाएंगे कार्य
इस मौके पर दल के साथ आए सदस्य एसडी शर्मा ने भरोसा दिलाया कि उन्होंने क्षेत्र में अकाल की स्थिति का जायजा लिया है तथा पूरा आंकलन कर केन्द्र सरकार को रिपोर्ट दी जाएगी। जिससे केन्द्र सरकार राज्य सरकार के माध्यम से सूखा प्रभावित क्षेत्रों में अकाल राहत के तहत विभिन्न कार्य समय पर शुरू किए जाएंगे। जिससे लोगों को रोजगार मिलेगा तथा उन्हें पशुपालन में भी मदद मिलेेगी। उपखंड अधिकारी राजेश विश्रोई ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। इससे पूर्व माड़वा के सरपंच फजलदीन मेहर ने अधिकारियों का साफा व मालाएं पहनाकर स्वागत किया। इस मौके पर विकास अधिकारी गौतम चौधरी, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ.विनोद कालरा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कार्मिक उपस्थित थे।
सूखा प्रभावित क्षेत्रों में की जाएगी हरसंभव मदद: मोदी
दौरे के दौरान जिला कलक्टर आशीष मोदी ने माड़वा गांव में पत्रिका से विशेष बातचीत करते हुए बताया कि अंतर मंत्रालयिक केन्द्रीय दल के सदस्यों के साथ उन्होंने बुधवार को सुबह कलेक्ट्रेट में बैठक की तथा जिले में अकाल की स्थिति को लेकर चर्चा की। उन्होंने बताया कि जिले में बुधवार को चार जगहों का दौरा कर सूखा प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया गया है। साथ ही ग्रामीणों व किसानों से मुलाकात कर अकाल व अन्य समस्याओं पर चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि केन्द्रीय दल के सदस्य अकाल की स्थिति की रिपोर्ट तैयार कर केन्द्र सरकार को सुपुर्द करेंगे। केन्द्र सरकार फेमिन कोड के अंतर्गत प्रावधानोंं के तहत राज्य सरकार के माध्यम से हरसंभव मदद उपलब्ध करवाएगी। जिससे लोगों को राहत मिलेगी।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned