अनजान दोस्त की पोस्ट पर लाइक व कमेंट किया तो आप हो सकते हैं अगला निशाना!

-सरहदी जिले में अनजान खतरा बन रहा सोशल मीडिया
-महीने भर में तीन मामले पुलिस तक पहुंचे
-अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश बैरवा कर रहे जागरुक

By: Deepak Vyas

Published: 16 Oct 2020, 04:41 PM IST

जैसलमेर. मौजूदा दौर में हर किसी पर सोशल मीडिया पर दोस्त बनाने का शौक सवार है। फेसबुक, वाट्सएप, इंस्टाग्राम पर अकाउंट बनाकर वे एक दूसरे के फोटो, वीडियो पोस्ट आदि पर लाइक और कमेंट करते हैं, लेकिन दिल बहलाव और समय व्यतीत करने का सबसे सशक्त माध्यम सोशल मीडिया अब एक खतरा भी बन गया है। जैसलमेर जैसे छोटे शहर में फेक प्रोफाइल के चलते कई लोगों के जीवन में बड़ी मुसीबतें दस्तक दे चुकी हैं। अनजान खतरे के रूप में उभर रहे सोशल मीडिया के प्रति जैसलमेर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश बैरवा ने आमजन को सावचेत करने का प्रयास किया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर अनजान लोगों से दोस्ती करने के चलते जैसलमेर में पिछले एक महीने के दौरान घटित तीन वारदातों को सामने रखते हुए लोगों को चेताया है।
केस- 1
एक सज्जन मोहनलाल (बदला हुआ नाम) के पास एक सुन्दर सी प्रोफाइल फोटो वाली लड़की ने फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। उम्रदराज मोहनलाल ने हाथों हाथ अनुरोध स्वीकार कर लिया, फिर निजी बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ जो धीरे-धीरे अंतरंग होता गया। फिर इसी बातचीत व एक वीडियो के आधार पर फेसबुक वाली फ्रेंड ने मोहनलाल से रुपए मांगने शुरू कर दिए और न देने पर चैट आदि सार्वजनिक करने की धमकी देने लगी। उन्होंने कुछ रुपए फोन पे से ट्रांसफर भी कर दिए। इसके बाद दो युवा बेटों और विवाहित बेटियों के पिता मोहनलाल को अपनी गलती का अहसास हुआ और बड़ी शर्म और आत्मग्लानि के साथ वह पुलिस के पास पहुंचे। जैसलमेर पुलिस ने तत्परता से जांच करते हुए केस का खुलासा किया और मेवात इलाके से दो युवकों को गिरफ्तार किया। दिलचस्प बात यह है कि लड़की बनकर चैटिंग और ब्लैकमेल करने वाला लड़का निकला।
केस- 2
एक सोशल डेटिंग एप पर दो युवकों राजा और राजू (दोनों बदले हुए नाम) की बातचीत होती है। राजा पढ़ाई में होशियार नवयुवक हैए पिता सरकारी सेवा में है। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है लेकिन इंटरनेट पर वह गलत सोशल मीडिया साइट पर। राजू से बात हुई और मुलाकात के लिए बुला लिया जैसलमेर। दोनों साथ घूमे फिरे, मौज मस्ती की। राजू ने पैसे मांगे, राजा ने मना कर दिया तो बात बिगड़ गई। राजू ने राजा पर बहला फुसलाकर जैसलमेर बुलाकर यौन शोषण का आरोप लगा दिया। राजा जैसा होनहार युवक अभी जेल में है।
केस: 3
दो किशोरवय लड़का.लड़की स्कूल के सहपाठी रहे हैं। दोनों के परिजन भी आपस में परिचित हैं। साथ पढने के दौरान दोनों एक दूसरे के प्रति आकर्षित हुए। दोनों ने कुछ फोटो खींचे उनमें से एक-दो फोटो ऐसे भी थे जो शालीनता की परिधि लांघते हैं। बाद में लड़की लड़के से मित्रता नहीं रखना चाहती तो लड़के ने ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और फोटो सोशल मीडिया पर डाल दिए। लड़की के परिजनों ने पुलिस केस कर दिया। आज लड़का जेल में कैद है और लड़की शर्मिंदगी के कारण घर में।

सीख जो लेनी चाहिए
-सोशल मीडिया पर अनजान लोगों से मित्रता से परहेज करें।
-अनजान लोगों से जुड़ते भी हैं तो उनके साथ बिना जाने पहचाने निजी जानकारी साझा नहीं करें और न ही निजी संबंध बनाएं।
-अपने फ्रेंड्स के साथ ;चाहे स्त्री हो या पुरुषद्ध संबंधों की मर्यादा रखिए। फोटोए वीडियो आदि भी शालीनता की सीमा में ही हो क्योंकि जो आज आपका चहेता है वह कल शत्रु बनकर ब्लैकमेल भी कर सकता है।
-किशोर वय के बच्चों की मोबाइल और इंटरनेट गतिविधियों पर नजर रखिए। उन्हें इंटरनेट और सोशल मीडिया के खतरों से आगाह कीजिए।
-सोशल मीडिया की आभासी दुनिया के बजाए वास्तविक जीवन में अपने मित्रों को प्रेम और मान.सम्मान दीजिए।

सतर्कता जरूरी है
सोशल मीडिया पर मुलाकात के बाद लोग पर्सनल चैटिंग पर आ जाते हैं और यहीं से कहानी मोड़ ले लेती है। देश में हजारों की संख्या में लोग सोशल मीडिया पर अनजान व गलत लोगों से दोस्ती के कारण ब्लैकमेलिंग और यौन शोषण जैसे अपराधों की गिरफ्त में फंसे हुए हैं। पिछले माह में ऐसे तीन केस जैसलमेर में सामने आ चुके हैं। सभी को सतर्क व सावचेत रहने की जरूरत है।
-राकेश बैरवा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जैसलमेर

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned