जिले में मिले दस और संक्रमित, कुल आंकड़ा 461 हुआ

-बढ़ रही जैसलमेर में दहशत
-होम क्वॉरंटीन बढ़ा रहा संक्रमण

By: Deepak Vyas

Published: 02 Sep 2020, 09:55 AM IST

जैसलमेर/पोकरण. सीमावर्ती जैसलमेर जिले में कोरोना से संक्रमित होने वालों की फेहरिस्त लगातार लम्बी होती जा रही है। मंगलवार को जैसलमेर में छह और पोकरण में चार कुल दस नए पॉजिटिव केसेज सामने आए। इन्हें मिलाकर जिले में अब तक 461 जने पॉजिटिव हुए हैं। संक्रमितों की तादाद में लगातार इजाफा होने से अब जैसलमेर मुख्यालय पर इस वैश्विक संक्रमण की दहशत लोगों में साफ देखी जा रही है। जैसलमेर में हाउसिंग बोर्ड निवासी 28 वर्षीयए कलाकार कॉलोनी में 27 वर्षीय व गांधी कॉलोनी में 28 वर्ष के युवक और रेंवतसिंह की ढाणी में सात वर्षीय बालक संक्रमित आए हैं वहीं सुथार पाड़ा में 18 व 20 साल के नवयुवकों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
पोकरण में चार नए मामले
कस्बे में अब कोरोना ने एक बार फिर अपने पांव पसारने शुरू कर दिए है। लगातार नए मरीजों की पुष्टि होने के कारण आमजन में भय का माहौल है। मंगलवार को प्राप्त हुई रिपोर्ट में कस्बे में चार नए पॉजिटिव सामने आए हैं। कस्बे के वार्ड संख्या छह निवासी 77 वर्षीय, 13 निवासी 48 वर्षीय पुरुष, 15 निवासी 36 वर्षीय महिला व एक होटल में ठहरा 38 वर्षीय सौर ऊर्जा कंपनी का कार्मिक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। चिकित्सा विभाग की ओर से पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनका उपचार शुरू कर दिया गया है। गौरतलब है कि अब पोकरण में कुल 77 जने पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। जिनमें से 65 जनों को स्वस्थ होने पर छुट्टी दी जा चुकी है तथा नौ जनों को होम क्वारंटीन व तीन जनों को संस्थागत क्वारंटीन कर उपचार किया जा रहा है।
बढने लगा संक्रमण
गौरतलब है कि गत अप्रेल माह में पोकरण में कोरोना के 35 मरीज मिले थे। जिसके बाद एक बार शांति हो गई थी तथा इक्का-दुक्का मरीज सामने आ रहे थे। गत कुछ दिनों से एक बार फिर कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढऩे लगा है। कुछ दिन पूर्व दो जने कोरोना संक्रमित मिले। जिनके संपर्क में आए उनके परिवारजन व मित्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। रविवार को सात तथा सोमवार को एक नया पॉजिटिव सामने आने के बाद मंगलवार को कस्बे में चार नए संक्रमित मिले हैं।
नहीं हो रही नियमों की पालना
गत मार्च-अप्रेल से जून.जुलाई माह तक कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उन्हें जोधपुर व जैसलमेर में भर्ती कर उपचार किया जाता था। इसके बाद जुलाई माह में पोकरण में रामदेवरा रोड पर स्थित रैन बसेरे में कोविड केयर सेंटर की स्थापना की गई तथा कोरोना संक्रमित पाए जाने पर लोगों को यहां भर्ती किया जाने लगाए लेकिन गत कुछ दिनों से पॉजिटिव आए लोगों को उनके घरों में ही क्वॉरंटीन किया जा रहा है। घरों में क्वारंंटीन किए जाने के कारण कोविड.19 के नियमों की पालना नहीं हो पाती है। परिवारजन किसी न किसी तरह संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ ही जाते हैं। यही नहीं कई बार संक्रमित व्यक्ति बाहर आ जाते हैं अथवा कुछ खा.पीकर बाहर सड़क पर थूक देते हैं। जिसके कारण भी संपर्क में आने से संक्रमण बढ़ रहा है। बावजूद इसके घरों में क्वारंटीन करने पर उन्हें नियमों का पालन करने के लिए पाबंद करने अथवा कड़ी कार्रवाई करने को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।
बढ़ रहे हैं इस प्रकार के मामले
होम क्वारंटीन के दौरान किसी न किसी रूप में संक्रमित व्यक्ति स्वस्थ व्यक्ति के संपर्क में आ ही जाता है। इसके अलावा कई बार खांसी के दौरान भी वायरस हवा में उड़कर स्वस्थ व्यक्ति को लग जाता है। जिसके कारण स्वस्थ व्यक्ति संक्रमित हो जाता है। बीते कुछ दिनों में ऐसे ही मामले सामने आए हैं। इस संबंध में उच्चाधिकारियों को अवगत करवाया गया है। साथ ही आमजन से भी संस्थागत क्वारंटीन के लिए अपील की जा रही है।
-डॉ.बाबूलाल गर्ग, प्रभारी चिकित्साधिकारी, सीएचसी, पोकरण

जिले में मिले दस और संक्रमित, कुल आंकड़ा 461 हुआ
Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned