गिरने से बचने के लिए सरकार पहुंची जैसलमेर, चार्टर्ड विमानों से विधायक पहुंचे स्वर्णनगरी

चार्टर्ड विमानों से विधायक पहुंचे स्वर्णनगरी
-कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच एयरपोर्ट से होटल पहुंचे

By: Deepak Vyas

Published: 01 Aug 2020, 01:55 PM IST

जैसलमेर. भीतर और बाहर से मिल रही चुनौतियों के बीच शुक्रवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थक कांग्रेसी और निर्दलीय व अन्य विधायकों के दल चार्टर्ड विमानों के जरिए देश की सीमा के अंतिम छोर पर बसे जैसलमेर पहुंचे। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सभी विधायकों को सिविल एयरपोर्ट से सम मार्ग स्थित होटल सूर्यागढ़ ले जाकर ठहराया गया है। सरकार के पक्षधर विधायकों की अगवानी के लिए जिला प्रशासन और पुलिस महकमा पांवों पर खड़ा नजर आया। सुरक्षा व्यवस्था इतनी कड़ी थी कि मीडिया तो दूर स्थानीय कांग्रेस नेताओं को भी सिविल एयरपोर्ट के भीतर नहीं जाने दिया गया। पहले चरण में तीन चार्टर्ड विमानों में सवार होकर 53 विधायक सिविल एयरपोर्ट उतरे। स्थानीय होने के कारण उनकी अगुवाई राजस्व मंत्री हरीश चैधरी और अल्पसंख्यक मामलात मंत्री शाले मोहम्मद कर रहे थे।
दोपहर बाद आए जैसलमेर
जैसलमेर मुख्यालय से करीब 10 किलोमीटर दूर सिविल एयरपोर्ट पर सुबह से विधायकों के आगमन को लेकर गहमागहमी का माहौल था। पुलिस का भारी बंदोबस्त एयरपोर्ट मार्ग और एयरपोर्ट के भीतर.बाहर किया गया। साथ ही आरएसी भी एयरपोर्ट में मुस्तैद थी। दोपहर बाहर विधायकों को लेकर तीन चार्टर्ड विमान थोड़े.थोड़े अंतराल में रन वे पर उतरे। सभी विधायकों को पहले एयरपोर्ट के वीआईपी लाउंज में ले जाया गया। जहां उन्हें अल्पाहार दिया गया। बाद में वे वहां पहले से बुला कर रखी गई लग्जरी बसों में बैठ कर होटल के लिए रवाना हुए। होटल जाते समय हरीश चौधरी व शाले मोहम्मद सहित अन्य विधायकों ने मीडिया के कैमरों की तरफ जीत का चिन्ह बनाया और हाथ हिला कर उनका अभिवादन किया।
तीन मंत्री और ये विधायक आए पहले
दोपहर बाद जैसलमेर पहुंचने वाले विधायकों में तीन मंत्री हुए हरीश चौधरी,शाले मोहम्मद व टीकाराम जूली शामिल थे। जानकारी के अनुसार उनके साथ यहां आने वाले विधायकों में जैसलमेर विधायक रूपाराम धणदे, उप मुख्य सचेतक महेंद्र चैधरी, संदीप यादव, राजकुमार रोत, बाबूलाल नागर, संयम लोढ़ा, रीटा चौधरी, रामप्रसाद डिंडोर, हाकम अली, जाहिदा खान, वाजिब अली, महेंद्र विश्नोई, गंगा देवी, गोपाल मीणा, अमीन कागजी, रामकेश मीणा, राजकुमार गौड़, कांति मीणा, दीपचंद खेरिया, खिलाड़ीलाल बैरवा, मीना कंवर, मनीषा पंवार, राजेंद्र गुढ़ा, लाखन मीणा, रामलाल जाट, भरतसिंह कुंदनपुर, दयाराम परमार, दानिश अबरार, प्रशांत बैरवा, इंदिरा मीणा, रोहित बोहरा शामिल थे।
कड़े रहे सुरक्षा प्रबंध
नाजुक दौर में जैसलमेर पहुंचे विधायकों की सुरक्षा और किसी बाहरी को उन तक न पहुंचने देने के पुख्ता प्रबंध पुलिस व अन्य एजेंसियों की ओर से किए गए हैं। जैसलमेर एयरपोर्ट और होटल सूर्यागढ़ पर अचूक बंदोबस्तों के चलते किसी को विधायकों के पास जाने की अनुमति नहीं थी। मीडिया प्रतिनिधियों को एयरपोर्ट के बाहर ही रोक कर रखा गया। स्वागत के लिए एयरपोर्ट पहुंचे पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़ भी भीतर नहीं जा पाए। ऐसे ही अन्य किसी कांग्रेसी नेता या पदाधिकारी को एयरपोर्ट या होटल तक जाने की अनुमति नहीं दी गई। स्थानीय अधिकारियों का कहना था कि सारी व्यवस्थाएं जयपुर के निर्देशानुसार ही की जा रही है। पुलिस महानिरीक्षक नवज्योति गोगोई, जिला कलक्टर आशीष मोदी और पुलिस अधीक्षक अजय सिंह दोनों स्थलों की सुरक्षा और अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे। अन्य प्रशासनिक व पुलिस अमला पूरी तरह से मुस्तैद नजर आया।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned