अब राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहन खड़ा करने वालों की खैर नहीं! जानिए पूरी खबर

अब राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहन खड़ा करने वालों की खैर नहीं! जानिए पूरी खबर

Deepak Vyas | Publish: Jun, 22 2018 12:45:26 PM (IST) Jaisalmer, Rajasthan, India

राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहन खड़ा करने वाले चालकों की अब खैर नहीं है। वाहन चालकों के चालान काटकर कार्रवाई की जा रही है।

लाठी. राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहन खड़ा करने वाले चालकों की अब खैर नहीं है। पुलिस की ओर से इसके लिए कमर कस ली गई है तथा गत दो दिनों से वाहन चालकों के चालान काटकर कार्रवाई की जा रही है। गौरतलब है कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों के खड़े रहने से यातायात व्यवस्था बाधित हो जाती है। जिससे अन्य वाहन चालकों व राहगीरों को आवागमन में परेशानी हो रही थी। इसी को लेकर राजस्थान पत्रिका के 18 जून के अंक में सडक़ पर वाहनों का जमावड़ा, यातायात हो रहा प्रभावित शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया गया। जिस पर हरकत में आए पुलिस विभाग की ओर से गत दो दिनों से सडक़ पर खड़े रहने वाले वाहनों के विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है। थानाधिकारी राजूराम सीरवी ने बताया कि गत दो दिनों में 15 वाहनों के चालान काटे गए है। उन्होंने बताया कि यह अभियान आगे भी जारी रहेगा तथा राष्ट्रीय राजमार्ग पर खड़े रहने वाले व यातायात बाधित करने वाले वाहनों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

सफाई कर्मिकों की भर्ती को लेकर सौंपा ज्ञापन
जैसलमेर. वाल्मिकी समाज एवं विकास संस्थान ने गुरूवार को सफाई कर्मिकों को लेकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि सरकार द्वारा शहर के 36 वार्डों में सफाई कार्य ठेका पद्धति के आधार पर किया जा रहा है। ऐसे में स्वायत शासन विभाग ने मात्र 33 पदों पर ही भर्ती निकाली है। जिससे वाल्मिकी समाज संतुष्ट नहीं है। वर्ष 2012 से ही 28 पदों पर भर्ती पहले से ही नहीं हो पाई है। ज्ञापन में स्वायत शासन विभाग द्वारा इस वर्ष निकाली गई सफाई कर्मिक भर्ती में पदों की संख्या बढाने, वाल्मिकी समाज को भर्ती में प्राथमिकता देने, साक्षात्कार के अंकों के माध्यम से मेरिट लिस्ट बनाकर पात्र लोगों का चयन करने की मांग की है। अध्यक्ष भगवानदास ने बताया कि मांगे नहीं माने जाने पर 23 जून को वाल्मिकी समाज द्वारा धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned