लॉकडाउन तोडऩे वालों पर सख्ती, पुलिस निकाल रही टायरों से हवा

- भीतरी भागों में अब भी निगरानी का अभाव

By: Deepak Vyas

Published: 29 Mar 2020, 08:18 PM IST

जैसलमेर. जिला मुख्यालय पर लॉकडाउन के चलते रविवार को भी मुख्य मार्गों और चौराहों पर दिन से रात तक लगभग सन्नाटा ही छाया रहा। सड़कों पर नाहक घूमते हुए लॉकडाउन को तोडऩे वालों के खिलाफ पुलिस ने कई जगहों पर सख्ती दिखाते हुए उनके वाहनों के टायरों की हवा निकाल दी। कहीं-कहीं पुलिसकर्मियों ने हवा में डंडे लहराते हुए ऐसे तत्वों को कड़ी चेतावनी दी। दूसरी ओर अब भी शहर के कई इलाकों में पुलिस का बंदोबस्त नहीं होने से युवा यहां-वहां घूमने से बाज नहीं आ रहे। दूसरी ओर जैसलमेर से चार कोरोना संदिग्ध व्यक्तियों के सेम्पल जांच के लिए जोधपुर भिजवाए गए हैं। जिनकी रिपोर्ट आनी अभी शेष है।
चेहरा ढंकने पर अब भी जोर
इस बीच किसी जरूरी काम से सड़क पर निकले लोगों को चेहरों पर मास्क लगाने या रूमाल से मुंह ढंकने को लेकर पुलिसकर्मी हर कहीं ताकीद करते नजर आ रहे हैं, जबकि राज्य सरकार की ओर से यह स्पष्ट किया जा चुका है कि स्वस्थ व्यक्तियों को मास्क लगाने की आवश्यकता नहीं है। यह केवल संक्रमित या संदिग्ध मरीजों तथा उनके बीच रहने वालों के लिए है।
जागरुकता से मुकाबला
जैसलमेर में कोरोना वायरस संक्रमण के संबंध में आमजन गत दिनों के दौरान खासा जागरुक हो चुका है। कई जनों ने बताया कि वे जरूरी काम के बाद जब घर लौटते हैं तो बच्चे उन्हें सबसे पहले साबुन से हाथ धोने तथा पहने हुए कपड़े बदलने के लिए कहते हैं। ऐसे ही हालात सोशल मीडिया पर भी बने हुए हैं। ज्यादातर लोग कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन के समर्थन में संदेश, मीम्स और वीडियो आदि प्रचारित-प्रसारित कर रहे हैं।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned