Video: बच्चों से मारपीट का वीडियो वायरल, आरोपी मौलवी दस्तयाब

सरहदी जैसलमेर जिले के सत्याया गांव के एक मदरसे में मौलवी की ओरसे तीन बच्चों के साथ बेरहमी से मारपीट करने का वीडियो वायरल वीडियो सामने आया है। मामला सार्वजनिक होने के बाद आरोपी मौलवी फरार हो गया, जिसे बाद में पुलिस ने दस्तयाब किया।

By: Deepak Vyas

Updated: 30 Jan 2021, 10:44 AM IST

नाचना (जैसलमेर). सरहदी जैसलमेर जिले के सत्याया गांव के एक मदरसे में मौलवी की ओरसे तीन बच्चों के साथ बेरहमी से मारपीट करने का वीडियो वायरल वीडियो सामने आया है। मामला सार्वजनिक होने के बाद आरोपी मौलवी फरार हो गया, जिसे बाद में पुलिस ने दस्तयाब किया। जानकारी के मुताबिक सत्याया गांव में स्थित फैजामा गरीब निवाज मदरसे में पढने वाले तीन छोटे बच्चों के साथ मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हुआ। नाचना क्षेत्र में यह मामला दिन भर चर्चा का विषय रहा। जानकारी मिलने पर पुलिस ने स्वत: संज्ञान लिया। नाचना पुलिस के थानाधिकारी रमेश ढाका मय पुलिस जाब्ता शुक्रवार सुबह सत्याया मदरसा पहुंची, वहां वारदात की बच्चों के परिजनों से जानकारी ली। पुलिस के पहुंचने से पहले आरोपी मौलवी सत्याया गांव छोड़ फरार हो गया। थाना अधिकारी रमेश ढाका ने बताया कि डीएसपी शाखा से गुरुवार रात्रि में फोन आया कि मारपीट करते हुए का वायरल वीडियो नाचना क्षेत्र का हो सकता है, जिस पर तस्दीक की गई। वीडियो सत्याया का पाया गया। देर रात होने के कारण रात्रि में कार्रवाई नहीं हो सकी। शुक्रवार सुबह उनके स्वयं के नेतृत्व मय पुलिस जाप्ता सत्याया पहुंचा। जानकारी लेने पर घटना सही पाई गई। उन्होंने बताया कि फरार मौलवी जिला गंगानगर तहसील सूरतगढ़ के गांव उदयपुर निवासी अब्दुल अजीज 23 वर्ष पुत्र गुलाम रसूल की तलाश शुरू की गई। उसे घंटियाली गांव की सरहद में दस्तयाब कर थाने लाया गया और पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया । उन्होंने बताया कि यही मौलवी पूर्व में घंटियाली गांव में स्थित एक मदरसे में बच्चो को अध्यन कार्य करवाता था। करीब एक महीने से यह मौलवी सत्याया गांव के मदरसे में बच्चों को अध्यन कार्य करवा रहा हैं । ढाका ने बताया कि प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया है।

Deepak Vyas Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned