दुर्घटना में आबकारी निरीक्षक हुए घायल, पत्नी की मौत

दुर्घटना में आबकारी निरीक्षक हुए घायल, पत्नी की मौत

Dharmendra Ramawat | Publish: May, 03 2018 10:33:42 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

आगे की सीट पर बैठे बच्चे को खरोंच तक नहीं आई, स्टेयरिंग में फंसने से निरीक्षक के पैरों में आई चोट

रामसीन/भीनमाल. मोदरा-रामसीन रोड पर जोड़वाड़ा गांव के निकट मंगलवार देर शाम एक कार संतुलन खोकर पेड़ से टकरा गई। कार पेड़ से टकराने से कार में सवार आबकारी निरीक्षक की पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं निरीक्षक व उसका पुत्र घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए शहर के निजी चिकित्सालय में भर्ती करवाया। जहां से निरीक्षक को उच्च ईलाज के लिए गुजरात रेफर किया। पुलिस के मुताबिक सेरणा निवासी हाल सुमेरपुर में कार्यरत आबकारी निरीक्षक शंभुसिंह राठौड़ पुत्र भीमसिंह राठौड़, उनकी पत्नी पारसकंवर (24) व पुत्र मयूर ध्वज (3) शाम को सेरणा से सुमेरपुर के लिए जा रहे थे। जोड़वाड़ा गांव के निकट कार अज्ञात वाहन की टक्कर के बाद संतुलन खोकर पेड़ से टकरा गई। जिससे उसकी पत्नी पारसकंवर की मौके पर ही मौत हो गई। आबकारी निरीक्षक व उसके पुत्र को लोगों ने इलाज के लिए शहर के निजी चिकित्सालय में भर्ती करवाया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद निरीक्षक को उच्च इलाज के लिए गुजरात रेफर किया। पुलिस ने सेरणा निवासी मोड़सिंह पुत्र अमरसिंह राठौड़ की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द किया।
लॉक हो गई थी कार
हादसे के बाद वहां से गुजर रहे लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। इस पर एएसआई पोकराराम व कांस्टेबल दौलाराम मौके पर पहुंचे। कार के पास पहुंचने पर पता चला कि वह अंदर से लॉक हो चुकी थी। इसके बाद पुलिस ने काफी मशक्कत कर दूसरी चाबी से लॉक खोला और उन्हें बाहर निकाला, लेकिन हादसे में निरीक्षक की पत्नी की मौत हो चुकी थी। जबकि निरीक्षक बेसुध हालात में था। जिसे भीनमाल के चिकित्सालय पहुंचाया गया। यहां जांच में निरीक्षक के पैर में फ्रेक्चर बताया गया। इसके बाद उसे आगे के लिए रेफर किया गया।
मृतका सेरणा ग्राम पंचायत में वार्ड पंच थी
आबकारी निरीक्षक शंभुसिंह सेरणा गांव के निवासी है। उनकी पत्नी पारसकंवर सेरणा ग्राम पंचायत के वार्ड संख्या 4 में वार्ड पंच थी। गत पंचायती राज चुनाव में यह निर्विरोध वार्ड पंच चुनी थी। उनके दुर्घटना में मौत के बाद गांव में शोक की लहर छा गई। हर कोई गांव में घटना की चर्चा करता रहा। घटना के बाद चिकित्सालय में देररात तक लोगों की भीड़ जुटी रही।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned