script प्लेसमेंट कैंप से दूरी: 80 पदों के लिए 43 युवा ही पहुंचे | Distance from placement camp: Only 43 youth reached for 80 posts | Patrika News

प्लेसमेंट कैंप से दूरी: 80 पदों के लिए 43 युवा ही पहुंचे

locationजांजगीर चंपाPublished: Dec 12, 2023 09:29:35 pm

Submitted by:

Anand Namdeo

आचार संहिता हटने के बाद रोजगार कार्यालय जांजगीर में मंगलवार को प्लेसमेंट कैंप का आयोजन हुआ। इसमें बेरोजगारों ने रूचि नहीं दिखाई। 80 पदों के लिए मात्र 43 युवा ही पहुंचे।

प्लेसमेंट कैंप से दूरी: 80 पदों के लिए 43 युवा ही पहुंचे
प्लेसमेंट कैंप से दूरी: 80 पदों के लिए 43 युवा ही पहुंचे
इनमें से 5 युवाओं का चयन हुआ। वहीं 12 युवाओं को शार्टलिस्ट किया गया। प्लेसमेंट कैंप होने के बावजूद गिनती के ही लोग पहुंचे जिससे ज्यादातर समय कंपनी के प्रतिनिधि खाली बैठे नजर आए। गौरतलब है कि जिला रोजगार कार्यालय द्वारा युवाओं को निजी क्षेत्र में रोजगार के अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से मंगलवार को जिला रोजगार कार्यालय जांजगीर में सुबह 11 बजे से 3 बजे तक एक दिवसीय प्लेसमेंट कैंप का आयोजन किया गया था। प्लेसमेंट कैंप में निजी क्षेत्र के नियोजक चैतन्य इंडिया फाइनेंसियल केडिट प्राइवेट लिमिटेड रायगढ़ एवं शिव शक्ति बॉयोप्लॉटेक लिमिटेड रायपुर द्वारा कस्टमर रिलेशनशिप एक्जीक्यूटिव के 50 पद एवं सेल्स रिप्रेजेंटेटिव के 30 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूरी की गई। इस पद के लिए निर्धारित शैक्षणिक योग्यता 10वी 12वीं उत्तीर्ण रखी गई थी। कंपनी द्वारा चयनित युवाओं का वेतनमान 8300 से 15000 रुपए व अन्य भत्ता कंपनी देने की बात कही थी। वहीं कार्य छत्तीसगढ़ प्रदेश के अंतर्गत था। योग्यता दसवीं-बारहवीं होने के बाद भी कैंप के जितने पदों के लिए वैकेंसी रखी गई थी उससे आधे युवा ही पहुंचे। मंगलवार को हुए प्लेसमेंट कैंप में चैतन्य इंडिया फाइनेंसियल केडिट प्राइवेट लिमिटेड में 29 युवाओं ने भाग लिया। 5 युवाओं को जॉब ऑफर दिया गया। वहीं शिव शक्ति बॉयोप्लॉटेक लिमिटेड के 14 युवा पहुंचे। जिनमें से 12 युवाओं को शार्टलिस्ट किया गया।
निजी कंपनियां ही आती है प्लेसमेंट कैंप

अब तक यही देखने को मिल रहा है रोजगार मेला या प्लेसमेंट कैंप में नौकरी देने के लिए केवल निजी कंपनियों ही आ रही है। इसमें भी कोई कंपनियां भी शामिल नहीं रहती। दूसरी ओर ज्यादातर कंपनियों के द्वारा जॉब प्रदेश के दूसरे जिलों या प्रदेश के बाहर ऑफर करती है। वेतन भी कम रहता है। कम वेतन और बाहर जाने युवा तैयार नहीं होते। यही वजह है कि प्लेसमेंट कैंप से युवा अब दूरी बना रहे हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो