पुलिस अधीक्षक के सामने पलट गयी लड़की, अय्याशी करने के आरोपी कांस्टेबल को बताया भाई

दुलदुला थाना में पदस्थ आरक्षक के खिलाफ थाने पंहुच गए और आरक्षक के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करना शुरु कर दिया। लोग शिकायत कर रहे थे कि दुलदुला में पदस्थ आरक्षक खुर्शीद आलम पिछले कई दिनों से अपने किराए के रुम में प्रतिदिन बाहरी युवतियों को लेकर आता है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 17 Oct 2019, 06:37 PM IST

दुलदुला/जशपुरनगर. बीते सोमवार को जिले में पदस्थ एक आरक्षक के द्वारा अपने किराए के मकान में बाहर की युवती को लाकर रखने के मामले में ग्रामीणों ने हंगामा मचाना शुरु कर दिया था। सुबह आरक्षक के किराए के कमरे में ग्रामीण पंहुच गए थे और पुलिस के मदद से युवती को उसके कमरे से बाहर निकाल कर पुलिस के सुपूर्द किए। मामला जशपुर जिले के दुलदुला थाना क्षेत्र का है।

कर्ज के बोझ में दबे बुजुर्ग को जिन्दा रहने से आसान लगा मर जाना, सूदखोर करते थे जलील

लड़की के बयान से पलट गया मामला

लड़की को इस मामले में बयान देने के लिए पुलिस अधीक्षक के सामने लाया गया और उससे ग्रामीणों द्वारा लगाए गए आरोप के बारे में पूछताछ की गयी। लड़की ने पुलिस अधीक्षक शंकर लाल बघेल के सामने बयान देते हुए कहा की आरोपी कांस्टेबल उनके भाई इसीलिए वो उनसे मिलने आती रहती है।

ये था पूरा मामला

दुलदुला थाना में पदस्थ आरक्षक के खिलाफ थाने पंहुच गए और आरक्षक के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करना शुरु कर दिया। लोग शिकायत कर रहे थे कि दुलदुला में पदस्थ आरक्षक खुर्शीद आलम पिछले कई दिनों से अपने किराए के रुम में प्रतिदिन बाहरी युवतियों को लेकर आता है।

तीन-तीन लड़कियों को बाइक पे बिठा कर रहा था हीरोगिरी, हुआ ऐसा कि कभी भूल नहीं पाएंगे

इसकी चर्चा कई दिनों से दुलदुला में चल रही थी। सोमवार की सुबह भी जब ग्रामीणों को इसी दरम्यान गांव वालों को आज सुबह सुबह पता चला कि आरक्षक के घर मे कोई बाहरी युवती आई है। सूचना पाकर सुबह सुबह करीब गांव के 2 दर्जन लोग आरक्षक के घर के बाहर खड़े हो गए और आरक्षक के बाहर निकलने का इंतज़ार करने लगे।

थोड़ी ही देर में उन्हें पता चला कि आरक्षक अपने कमरे में नही है युवती कमरे में अकेले है। ये जानकर ग्रामीणों ने दुलदुला थाना प्रभारी को फोन कर सारा कुछ बताते हुए मौके पर पहुंचकर युवती की तस्दीक करने का आग्रह किया लेकिन थाना प्रभारी के प्रवास में होने के कारण मौके पर थाना स्टाफ भेजकर युवती को थाना ले आया गया।

लड़की घर में थी अकेली, दीवार फांद पहुंच गया भाभी के घर और उसकी छोटी बहन के साथ...

इस घटना के बाद पूरे दुलदुला में बवाल मच गया और लोग भारी संख्या में थाने के सामने इकट्ठे होने लगे । ग्रामीणों का कहना है कि समाज मे गंदगी को दूर करने के प्रति जवाबदार मुलाजिम ही अगर समाज मे गंदगी फैलाएंगे तो हालात ठीक नही होंगे इसलिए ऐसे आरक्षक को तत्काल हटाया जाए।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें ये खबर: अय्याश पुलिस कांस्टेबल अपने कमरे में रोज लाता था नयी-नयी लड़कियां, परेशान पड़ोसियों ने सिखाया सबक

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned