तीन-तीन लड़कियों को बाइक पे बिठा कर रहा था हीरोगिरी, हुआ ऐसा कि कभी भूल नहीं पाएंगे...

घटना के बाद महिला का कई अस्पताल में इलाज चला रहा है। मामले में पुलिस ने आरोपी बाइक चालक के खिलाफ धारा 279, 337 के तहत अपराध दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार प्रार्थिया गंधवी कांटे पति रत्नाकर कांटे (32) ग्राम तरडा में रह कर मजदूरी का काम करती है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 17 Oct 2019, 04:56 PM IST

रायगढ़. पुसौर थाना क्षेत्र अंतर्गत एक युवक बाइक में तीन लड़कियों को बैठाकर स्टंट मारते हुए तेज एवं लापरवाही पूर्वक वाहन चला रहा था। इसी बीच युवक ने बाइक से अपना नियंत्रण खो दिया और सामने से जा रही महिला को जोरदार टक्कर मार दिया। जिससे महिला सडक़ पर गिर कर गंभीर रूप से घायल हो गई।

शादीशुदा औरत को टमाटर बेचने वाले से हो गया प्यार, पति के खिलाफ रची ये खौफनाक साजिश

घटना के बाद महिला का कई अस्पताल में इलाज चला रहा है। मामले में पुलिस ने आरोपी बाइक चालक के खिलाफ धारा 279, 337 के तहत अपराध दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार प्रार्थिया गंधवी कांटे पति रत्नाकर कांटे (32) ग्राम तरडा में रह कर मजदूरी का काम करती है।

अध्यापिका का गजब कारनामा, एक ही समय पर दो-दो स्कूलों में करती है ड्यूटी

8 अक्टूबर की दोपहर करीब एक बजे वह गांव के मिश्रा तालाब में नहाने गई थी। नहा कर वापस अपने घर लौटते समय गंधवी जैसे ही गांव के साइकिल दुकान के पास पहुंचे थी कि पीछे से ग्राम बासनपाली कासमीर कोलता बाइक में तीन लड़कियों को बैठाकर स्टंट मारते हुए तेज रफ्तार से आ रहा था। वहीं अचानक समीर ने लापरवाही पूर्वक वाहन चलाते हुए गंधवी को पीछे से टक्कर मार दिया। जिससे वह सडक़ पर गिर कर गई।

इस घटना में गंधवी के सिर, हाथ-पैर तथा शरीर के अन्य हिस्सों में चोट आई थी। घटना के बाद पीडि़ता का पति उसे डायल 112 से इलाज के लिए पुसौर अस्पताल लेकर गया। जहां महिला की गंभीर स्थिति को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे रायगढ़ रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में दो दिन इलाज कराने के डॉक्टर ने महिला के सिर में गंभीर चोट लगने की बात कहते हुए उसे बाहर ले जाने को कहा। इसके बाद पीडि़त परिजन उसे जिंदल अस्पताल लेकर गए।

कर्ज के बोझ में दबे बुजुर्ग को जिन्दा रहने से आसान लगा मर जाना, सूदखोर करते थे जलील

जहां कुछ दिन चले इलाज के बाद 11 अक्टूबर को महिला के स्वास्थ्य में कुछ सुधार होने पर उसे उसके परिजन अस्पताल से छुट्टी करा कर घर ले गए। इसके बाद घटना की रिपोर्ट थाने में की गई। जहां पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया है।

एक बाइक पर चार लोग थे सवार

पुलिस की माने तो युवक हीरोगिरी के चक्कर में हादसे को न्योता दे बैठते हैं। एक बाइक में आरोपी अपने अलावा तीन लड़कियों को बिठाकर वाहन चला रहा था, जिससे दुर्घटना घटित हुई। आरोपी के इस करतूत की सजा महिला को भुगतनी पड़ रही है। चूंकि उसके सिर में लगा अंदरूनी चोट अब तक पूरी तरह से ठीक नहीं हुआ है। जिससे महिला के परिजन काफी चिंतित रहते हैं।

ये भी पढ़ें: लड़की घर में थी अकेली, दीवार फांद पहुंच गया भाभी के घर और उसकी छोटी बहन के साथ...

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned