सूर्य को अघ्र्य देकर परिवार के लिए अक्षय मंगल की कामना

महिला वर्ग में विशेष उत्साह रहा, घरों में तिल खाकर दिन की शुरुआत हुई

झाबुआ. बुधवार को तिल संक्रांति के अवसर पर सूर्य को अघ्र्य देकर परिवार के लिए अक्षय मंगल कामना की गई। मंदिरों में भगवान का आकर्षक श्रृंगार हुआ। रंग-बिरंगी पतंग एवं धागों से गर्भ ग्रह सजाया गया। धर्मावलंबियों ने भगवान को चांदी के आभूषण भेंट चढ़ाए। मंदिरों में अपने भगवान की आरती करने के लिए बड़ी संख्या में भक्तों उपस्थित रहे।

गरीब एवं जरूरतमंद लोगों को उनकी जरूरत के हिसाब से दान दिया। रात तक दान पुण्य का सिलसिला चलता रहा। महिला वर्ग में विशेष उत्साह रहा। इस दिन घरों में तिल खाकर दिन की शुरुआत हुई। तिल का विशेष महत्व होने के कारण इस दिन किसी ने तील का उबटन लगाकर तो किसी ने जल में तिल डालकर स्नान किया। तिल से बनी मिठाई खिलाई। मंदिरों, गोशालाओं, परिजनों को उपयोगी वस्तुएं दान दे कर धर्मलाभ लेने की होड़ रही। बुधवार के दिन भी लोग परिवार सहित छतों पर नजर आए। छतों पर ही खाने-पीने की व्यवस्था की गई। देर शाम तक युवाओं के बीच पतंगबाजी एवं गिल्ली डंडे के मुकाबले चलते रहे। छतों पर हुल्लड़ मचाते युवा डीजे की धुन पर थिरकते रहे। बच्चों में विशेष उत्साह देखा गया। छोटे बच्चे सड़कों पर हाथों में पतंग लिए दौड़ते दिखाई दिए।

kashiram jatav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned