script बोर्ड परीक्षा :सीबीएसई के डायबिटीज विद्यार्थी परीक्षा के दौरान ले जा सकेंगे दवा और खाना | Board Exam: CBSE diabetic students will be able to take medicine and f | Patrika News

बोर्ड परीक्षा :सीबीएसई के डायबिटीज विद्यार्थी परीक्षा के दौरान ले जा सकेंगे दवा और खाना

locationझालावाड़Published: Feb 12, 2024 11:44:41 am

Submitted by:

harisingh gurjar

.सीबीएसई दसवीं व बारहवीं के डायबिटीज टाइप-2 के विद्यार्थी वार्षिक परीक्षाओं के दौरान जरुरी दवाएं और खाना-फल ले जा सकेंगे।

Board Exam: CBSE diabetic students will be able to take medicine and f
बोर्ड परीक्षा :सीबीएसई के डायबिटीज विद्यार्थी परीक्षा के दौरान ले जा सकेंगे दवा और खाना
.सीबीएसई दसवीं व बारहवीं के डायबिटीज टाइप-2 के विद्यार्थी वार्षिक परीक्षाओं के दौरान जरुरी दवाएं और खाना-फल ले जा सकेंगे। बोर्ड ने विद्यार्थियों के स्वास्थ्य के मद्देनजर यह आदेश जारी किए है।

सीबीएसई की दसवीं-बारहवीं की वार्षिक परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू होंगी। दसवीं के पेपर 13 मार्च और बारहवीं के 2 अप्रेल को खत्म होंगे। परीक्षाओं में कई डायबिटीज टाइप-2 के विद्यार्थी भी शामिल होंगे। इनकी सेहत को ध्यान में रखकर बोर्ड ने दवा और भोजन को लेकर आदेश जारी किए हैं। यह सुविधा उन्ही विद्यार्थियों को मिलेगी जिन्होंने परीक्षा फार्म ऑनलाइन सूची में डायबिटीज टाइप-2 का हवाला दिया है। ऐसे विद्यार्थियों को केन्द्राधीक्षकों से संपर्क करना होगा। जिलेभर के एक दर्जन से अधिक स्कूलों में करीब 11हजार विद्यार्थी सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में शामिल होंगे।
बोर्ड ने दिए सर्तकता के निर्देश-

राज्य स्तरीय परीक्षाओं में पेपर लीक व डमी अभ्यर्थियों के परीक्षा देने के मामले सामने आने के बाद अब माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए है। बोर्ड प्रशासन ने दसवीं व बारहवीं की बोर्ड परीक्षा में परीक्षा केन्द्रों की सुरक्षा के लिए गाइडलाइन जारी की है। इसमें कोई भी परीक्षार्थी चेहरे पर स्कार्फ या कपड़ा नहीं बांध सकेगा। परीक्षा के दौरान चेहरा साफ दिखना चाहिए। जिससे वीक्षक उसके चेहरे का आवेदन में लगे फोटो से मिलान कर सके। केन्द्र में प्रवेश के दौरान छात्राओं की तलाशी के लिए महिला कार्मिक या शिक्षक ही तैनात किए जाएंगे। छात्राओं के साथ शालीन व्यवहार करने की बात भी गाइड लाइन में बताई गई है। केन्द्र पर दिव्यांग परीक्षार्थियों के लिए रैंप या अन्य संसाधन होंगे, जिससे वह केन्द्र में सहूलियत से जा सके। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर छात्र-छात्राओं के लिए वॉशरूम की पर्याप्त व्यवस्था रखने के भी निर्देश दिए गए है।
यह सामग्री ला सकेंगे साथ-

टाइप-2 डायबिटीज के विद्यार्थी परीक्षा में अपने साथ शुगर टेबलेट, कैंडी, चॉकलेट, नारंगी, केला, सेब, प्रोटीन युक्त सैंडविच या अन्य सामग्री ला सकेंगे। इसके अलावा चिकित्सक के परामर्श अनुसार दवाएं, पांच सौ एमएल की पानी की बोतल, ग्लूकोमीटर और ग्लूकोस टेस्टिंग स्ट्रिीप साथ ला सकेंगे।
कड़ी सुरक्षा में होगी परीक्षा-

बोर्ड के निर्देशानुसार परीक्षा केन्द्रों पर कड़ी सुरक्षा की व्यवस्था रहेगी। केवल वैध व्यक्ति का ही परिवार में प्रवेश संभव होगा। डिजिटल घड़ी, केवल अनुमत परीक्षा के अलावा केलकुलेटर आदि डिवाइस परीक्षा केन्द्रों में अनुमत नहीं होगी। एडमिशन कार्ड में हाल का फोटो आवेदन पत्र में लगे फोटो जैसा होना चाहिए।
आधा घंटे पहले पहुंचना होगा-

जिले में 15 फरवरी से सीबीएसई की परीक्षाएं शुरू होगी। इस बार बोर्ड की तरफ से काफी सख्ती की गई है। इस बार आधा घंटा पहले केन्द्र पर पहुंचना होगा। आधा लीटर पानी की बोतल व बॉक्स, रिंग, घड़ी आदि परीक्षा केन्द्र पर अलाव नहीं होंगे। इस बार डियबिटिज बच्चों को टेबलेट व बिस्किट ले जाने की अनुमति होगी। बच्चों को डॉक्टर से प्रमाणित करवा कर प्रमाण पत्र देना होगा। वेद प्रकाश मीणा, प्रिन्सीपल केन्द्रीय विद्यालय,झालावाड़।

ट्रेंडिंग वीडियो