scriptRajasthan Ram Mandir in Jhalawar Dag people protest against priest | Ayodhya Ram Mandir : राजस्थान के इस राम मंदिर का गुस्साए लोगों ने किया घेराव, विरोध के बीच महंत को किया मंदिर से बाहर, जानें बड़ी वजह | Patrika News

Ayodhya Ram Mandir : राजस्थान के इस राम मंदिर का गुस्साए लोगों ने किया घेराव, विरोध के बीच महंत को किया मंदिर से बाहर, जानें बड़ी वजह

locationझालावाड़Published: Jan 22, 2024 02:07:56 pm

Submitted by:

Nakul Devarshi

Protest Against Ram Mandir Priest in Rajasthan : देखते ही देखते बिगड़ गया माहौल, लोगों ने महंत को मंदिर किया बाहर

 

Rajasthan Ram Mandir in Jhalawar Dag people protest against priest

नवनिर्मित राम मंदिर के उद्घाटन और रामलला प्राण प्रतिष्ठा को लेकर जहां अयोध्या से लेकर देश-दुनिया में उल्लास छाया हुआ है, वहीं राजस्थान के झालावाड़ स्थित एक राम मंदिर में आज सुबह जमकर बवाल हो गया। यहां मंदिर की अव्यवस्थाओं से नाराज़ होकर कुछ लोगों का गुस्सा मंदिर महंत पर फुट पड़ा। लोगों के विरोध और हंगामे के चलते मंदिर परिसर में माहौल बिगड़ गया।

जानकारी के अनुसार झालावाड़ के डग कस्बे में स्थित श्री राम मंदिर में आज सुबह उस वक्त बखेड़ा हो गया जब कुछ लोगों ने मंदिर में अव्यवस्थाओं से नाराज़ होकर खूब हंगामा किया। इन लोगों ने ना सिर्फ मंदिर महंत कैलाश दास के खिलाफ नारे लगाकर विरोध ही जताया बल्कि महंत को मंदिर से कुछ देर के लिए बाहर भी कर दिया। इस बीच मौके पर तनाव की स्थिति बनी रही।

ये भी पढ़ें : ये हैं राजस्थान में राम भक्त हनुमान के 5 चमत्कारी मंदिर, आप भी करें दर्शन

बताया जा रहा है कि डग कस्बे में सैंकड़ों बीघा भूमि पर फैले कुंड मठ में प्रभु श्री राम का प्राचीन मंदिर है। यहां कस्बे के ही कुछ लोगों ने आज सुबह मंदिर महंत से अव्यवस्थाओं को लेकर नाराज़गी जताई। इसी बात पर महंत और कस्बेवासियों के बीच बहस गरमा गई। देखते ही देखते मंदिर का माहौल बिगड़ गया और आक्रोशित कस्बेवासियों ने महंत को मंदिर से बाहर कर दिया।

जानकारी के अनुसार मंदिर महंत को बाहर करने के बाद कस्बे के ही कुछ लोगों ने मंदिर की व्यवस्थाओं को लेकर मोर्चा संभाल लिया। इन लोगों ने मंदिर की साफ़-सफाई से लेकर प्रभु के श्रृंगार तक का काम किया।

ये भी पढ़ें : अस्पताल में भी पधारे राम…माताओं ने जन्म दिए बच्चे का नाम “राम और सीता” रखा


कस्बेवासियों का कहना है कि कुंड मठ स्थित श्री राम मंदिर के मुख्य महंत के निधन के बाद से मंदिर कैलाश दास महंत की ज़िम्मेदारी निभा रहे थे। इनकी देखरेख में पिछले करीब 7 वर्ष से मंदिर की व्यवस्थाएं चरमरा गईं। महंत कैलाश के आचरण और चरित्र को लेकर भी कस्बेवासियों ने कई आरोप लगाए हैं। फिलहाल कस्बेवासियों ने मंदिर व्यवस्थाओं को संभालने के लिए कार्यकारी प्रशासक नियुक्त किया है। आगामी कार्य योजना के लिए मंगलवार को महत्वपूर्ण बैठक बुलाई गई है।

ट्रेंडिंग वीडियो