छोटे से गांव के 2 युवक आइपीएस

नवलगढ़. उपखंड का छोटा सा गांव है बड़वासी। गांव प्रतिभाओं की खान है। गांव ने भारतीय पुलिस सेवा के दो अधिकारी दिए हैं। आईपीएस डॉ बीएल मीणा अभी आइजी(रूल्स) जयपुर हैं। वहीं गांव का एक और लाडला रवि चौधरी भी आइपीएस है। रवि अभी इम्फाल में तैनात है।

By: Rajesh

Published: 22 Oct 2020, 11:05 AM IST

छोटे से गांव के 2 युवक आइपीएस

आओ गांव चले , बड़वासी गांव


नवलगढ़. उपखंड का छोटा सा गांव है बड़वासी। गांव प्रतिभाओं की खान है। गांव ने भारतीय पुलिस सेवा के दो अधिकारी दिए हैं। आईपीएस डॉ बीएल मीणा अभी आइजी(रूल्स) जयपुर हैं। वहीं गांव का एक और लाडला रवि चौधरी भी आइपीएस है। रवि अभी इम्फाल में तैनात है। ग्रामीण श्रीराम सोनी, शीशपाल कुलहरि, कुड़ीलाल सोनी, विकास कुमार ने बताया कि स्वतंत्रता सेनानी रामसिंह कुलहरि व रतिराम दूत भी इसी गांव के रहने वाले हैं। गांव के रुड़ाराम पहले सूबेदार बने थे। मुरारी लाल सैनी चिकित्सक, रमेश सैनी चिकित्सक, गांव की बहू ललिता मीणा चिकित्सक, संगीता चौधरी चिकित्सक, मूलचन्द मूण्ड विद्युत निगम में एईएन, जितेन्द्र कुमार तकनीकी सहायक, बिज्जू सिंह, ओमप्रकाश शर्मा डबलएओ के पद पर सेवाएं दे रहे हैं। वहीं गांव के युवा फौज व अन्य विभागों में भी कार्यरत है। गांव के भंवर सिंह फ्लाइट लेफ्टिनेंट, रामदेव सिंह सुण्डा एसडीएम, भागीरथ मल थानेदार,श्रीराम ख्यालिया एसआई के पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं। गांव के 78 वर्षीय झाबर मल मीणा व कमल इन्दोरिया के अनुसार उपखण्ड मुख्यालय से करीब आठ किमी दूर गांव बड़वासी की बसावट 500 वर्ष पूर्व हुई थी। गांव में कई वर्षों पूर्व मानो लाखो नाम का आदमी आकर बसा था। इसके बाद गांव में धीरे-धीरे बसावट होने लगी। वहीं गांव के नामकरण का कोई पुख्ता प्रमाण नहीं है। ग्रामीणों के अनुसार गांव में किसी समय बड़ के पेड़ अधिक थे, ऐसे में इसका नाम बड़वासी रखा गया। वहीं कई ग्रामीणों का कहना है कि गांव में एक बड़वा रहता था। इसलिए इस गांव का नाम बाद में बड़वासी रखा गया। कमल इन्दोरिया ने बताया कि नवाब अन्नामुल्ला खान की शार्दुल सिंह से डूमरा जोहड़ में लड़ाई हुई थी। इसमें नवाब को हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद यह गांव शार्दुल सिंह के हिस्से में आ गया।

विकास कार्यों में दानदाताओं का योगदान


गांव के दानदाताओं का विकास कार्यों में भी बहुत योगदान है। ग्रामीणों के अनुसार दानदाता शिवदत्त ज्वालाप्रसाद मुरारका ने गांव के राजकीय उमावि का भवन बनवाकर दिया। दानदाता विद्याधर व सुरेन्द्र सीगड़ ने पीएचसी भवन के लिए जमीन दान की है।

आस्था का केन्द्र चरणदास बाबा का मंदिर


ग्रामीण मनीष मिश्रा, योगेश सोनी व जगदीश प्रसाद शर्मा ने बताया कि गांव के कलवाणिया जोहड़ स्थित चरणदास बाबा (महापुरुषा का मंदिर) का मंदिर हर किसी के आस्था का केन्द्र है। मंदिर में गांव सहित आस-पास के गांवों से भी श्रद्धालु आते हैं। मंदिर में धोक लगाते हैं। उन्होंने बताया कि मंदिर में व इसके आस-पास के इलाके में कई वर्षों पूर्व हिन्दी फिल्म की शूटिंग भी हो चुकी है। उस दौरान अभिनेता शाहरुख खान, रानी मुखर्जी समेत अन्य कलाकारों पर कई दृश्य फिल्माए गए थे। इसके अलावा गांव का श्री गंगाघाट बालाजी धाम, ठाकुरजी का मंदिर, माताजी का मंदिर, शिवजी के मंदिर भी प्रसिद्ध है।

ये हैं गांव की समस्याएं


गांव के कई मोहल्लों में नालियों का अभाव है। इसके चलते बरसाती व गंदे पानी की निकासी की समस्या है। वहीं मुख्य चौक के पास बनी पेयजल टंकी क्षतिग्रस्त है। टंकी में पेयजल सप्लाई के समय पानी व्यर्थ में बहता रहता है।

छोटे से गांव के 2 युवक आइपीएस
Rajesh Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned