Corona Positive News: इस गांव से कोसों दूर है कोरोना वायरस का संक्रमण, ग्रामीणों ने कर रखी ऐसी व्यवस्था

पिछले वर्ष से लेकर अभी तक गांव कोरोना संक्रमण से महफूज है।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 20 May 2021, 10:16 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के दौर में जहां कुछ लोग भयभीत हुए हैं। वहीं कानपुर जिले के एक गांव में लोगों की सक्रियता के चलते कोरोना वायरस (Corona Virus) को प्रवेश नही करने दिया गया। जी हां हम बात कर रहे हैं बिधनू ब्लॉक के पसिक पुरवा गांव की। यहां के ग्रामीण अपने आत्मविश्वास और दृढ़ इच्छाशक्ति के बल पर कोरोना को मात दे रहे हैं। ग्रामीण स्वयं जागरूक होकर अपने घरों को सप्ताह में दो बार सेनेटाइज कर दूसरों को भी संदेश दे रहे हैं। इस गांव की आबादी करीब दो हजार है, लेकिन ग्रामीणों की सतर्कता के चलते कोरोना संक्रमण का कोई केस सामने नहीं आया है।

ये भी पढें: लूट खसोट करने वालों से हटकर हैं कानपुर के हिमांशु और दिलशाद, शव वाहन चलाकर कर रहे ऐसे मदद

मीणों के मुताबिक गांव में कई लोगों के पास दवा छिड़कने की मशीन है। संक्रमण से बचाव के लिए लोग खुद मशीन से अपने घरों व गलियों तक को सेनेटाइज करते हैं। इसके चलते पिछले वर्ष से लेकर अभी तक गांव कोरोना संक्रमण से महफूज है। गांव में पेड़ों की संख्या अधिक होने के चलते यहां का शुद्ध वातावरण भी शुद्ध है। हर घर के बाहर लगा हरा पेड़ गांव के लिए सुरक्षा कवच बना हुआ है।

गांव के कई किसान रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली चीजें इस्तेमाल कर रहे हैं। खानपान के साथ अदरक, नींबू, काली मिर्च, तुलसी, गिलोय, लहसुन, संतरा, लौकी तरोई सहित कई अन्य विटामिन व प्रोटीन युक्त सब्जी एवं फलाहार करते हैं। ग्रामीण अनवरत हल्दी, दूध, सोंठ, लौंग, कालीमिर्च, दालचीनी, तुलसी, आंवला, मुलेठी, हर्र, बहेड़ा से लेकर अन्य औषधीय पौधों का प्रयोग करते हैैं। जिससे कोरोना का वायरस इस गांव से कोसों दूर है।

Corona virus
Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned