scriptFirst Stem Cell therapy in Hailat Kanpur GSVM Medical College in UP | Special News of GSVM: स्टेम सेल थेरेपी देने में हैलट बना प्रदेश का पहला मेडिकल कॉलेज, लाइलाज बीमारियों में इस थेरेपी से मिलेगी राहत | Patrika News

Special News of GSVM: स्टेम सेल थेरेपी देने में हैलट बना प्रदेश का पहला मेडिकल कॉलेज, लाइलाज बीमारियों में इस थेरेपी से मिलेगी राहत

इस थेरेपी को देने की पूरी पद्धति में 40 मिनट समय लगा। इस तरह हैलट यूपी का पहला स्टेम सेल थेरेपी देने वाला मेडिकल कॉलेज हो गया।

कानपुर

Published: October 21, 2021 12:27:13 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. कानपुर का हैलट (Hailat Hospital) स्टेम सेल थेरेपी (Stem Cell Therapy) के मामले में प्रदेश में पहला मेडिकल कॉलेज (GSVM Medical College) बन गया है। इस थेरेपी से लाइलाज रोगों का इलाज करने की शुरुवात बुधवार को हैलट में की गई। इसमें पहले केस में सेलिब्रल पैल्सी मरीज (Celibral Palsy Patients) को विशेषज्ञ डॉ. बीएस राजपूत द्वारा स्टेम सेल थेरेपी दी गई। इसमें मरीज की ही अस्थि मज्जा से स्टेम सेल (Stem Cell) निकाली गई और फिर कल्चर करने के बाद उसकी रीढ़ में डाली गई। थेरेपी को देने की पूरी पद्धति में 40 मिनट लगा। इस तरह हैलट यूपी का पहला स्टेम सेल थेरेपी देने वाला मेडिकल कॉलेज हो गया।
Special News of GSVM: स्टेम सेल थेरेपी देने में हैलट बना प्रदेश का पहला मेडिकल कॉलेज, लाइलाज बीमारियों में इस थेरेपी से मिलेगी राहत
Special News of GSVM: स्टेम सेल थेरेपी देने में हैलट बना प्रदेश का पहला मेडिकल कॉलेज, लाइलाज बीमारियों में इस थेरेपी से मिलेगी राहत
सेलिब्रल पैल्सी रोगी को दिया गया पहला थेरेपी

एसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजय काला ने बताया कि राजकीय मेडिकल कॉलेजों में स्टेम सेल थेरेपी का यह पहला केस है। दरअसल कानपुर के गुमटी निवासी रोगी पैदाइशी सेरिब्रल पैल्सी का शिकार है। उसे दौरे पड़ते हैं और उठ-बैठ नहीं पाता। यहां तक कि उन्हें पाखाना-पेशाब का भी पता नहीं चलता। इसमें रोगी की ही अस्थि मज्जा से स्टेम सेल निकालकर कल्चर करने के बाद उसकी रीढ़ में डाल दिया गया। प्राचार्य डॉ. काला ने बताया कि रीढ़ के जरिये स्टेम सेल सेरिब्रल पैल्सी मरीज के मस्तिष्क तक पहुंच जाती हैं। और फिर स्टेम सेल से क्षतिग्रस्त कोशिकाएं दुरुस्त होने लगती हैं।
इन रोगों के मरीजों को दी जाएगी ये थेरेपी

इस थेरेपी को आटिज्म, मांसपेशियों की डिस्ट्रॉफी, स्पाइनल कॉर्ड की चोट के ऐसे रोगी जो 108 दिन के इलाज के बाद ठीक नहीं हुए, एएलएस, आस्टियो आर्थ्राइटिस, बर्जरी डिजीज, पेरीफ्रल आर्टरी डिजीज आदि रोगियों को दिया जाएगा। विशेषज्ञों ने रोगी को स्टेम सेल थेरेपी देने के पहले हैलट में ओपीडी की। डॉ. राजपूत ने पांच रोगी देखे। इनमें से जिन रोगियों में जरूरत होगी उन्हें अगले महीने के मंगलवार को थेरेपी दी जाएगी। प्राचार्य डॉ. काला ने बताया कि थेरेपी में लाइलाज मर्ज के रोगियों को प्राथमिकता दी जाएगी। स्टेम सेल थेरेपी की टीम में डॉ. काला, सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. जीडी यादव, एनेस्थीसिया विभागाध्यक्ष डॉ. चंद्रशेखर, रेजीडेंट डॉ. अभिषेक आदि रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Numerology: कम उम्र में ही अच्छी सफलता हासिल कर लेते हैं इन 3 तारीखों में जन्मे लोगहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीweather update: राजस्थान के इन जिलों में हुई बारिश, जानें आगे कैसा रहेगा मौसमतत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal Loan

बड़ी खबरें

UP Assembly Elections 2022 : पलायन और अपराध खत्म अब कानून का राज,चुनाव बदलेगा देश का भाग्य - गृहमंत्री शाहराजपथ पर पहली बार 75 एयरक्राफ्ट और 17 जगुआर का शौर्य प्रदर्शन, देखें फुल ड्रेस रिहर्सल का वीडियोहेट स्पीच को लेकर हिन्दू संगठन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा-मुस्लिम नेताओं की भी हो गिरफ्तारीCovid-19 Update: देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3.37 लाख नए मामले, ओमिक्रॉन केस 10 हजार पारनेताजी की जयंती अब पराक्रम दिवस के रूप में मनाई जाएगी, PM मोदी समेत इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलिछत्तीसगढ़ में माओवादियों की मांद में सेंध लगाएगा BSF का एरावत, पहली बार 10 एमपीवीं पहुंची CG, जंगलों में होगा तैनातपोस्ट ऑफिस ग्राहकों के लिए नया नियम, बिना पासबुक रुक जाएंगे आपके यह काम, जानें पूरी डिटेलघने कोहरे की वजह से तेजस एक्सप्रेस हुई लेट, रेलवे देगा 544 यात्रियों को भारी मुआवजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.