84 के दगोंं पर कांग्रेस पर बरसीं उमा भारती, अखिलेश-मायावती ने राहुल से बना ली दूरी

कानपुर आईं केंद्रीय मंत्री ने अगले डेढ़ साल तक गंगा नदी के किनारे ही रात्रि प्रवास करने का एलान किया, साथ ही सिख दंगा पीड़िता को न्याय मिलने पर खुशी जाहिर करते हुए कांग्रेस पर निकाली भड़ास।

By: Vinod Nigam

Published: 18 Dec 2018, 09:15 AM IST

कानपुर। केंद्रीय पेयजल, स्वच्छता मंत्री उमा भारती सोमवार को कानपुर पहुंची। यहां सबसे पहले सिद्धेश्वर मंदिर पर जाकर भगवान शिव की पूजा-अर्चना की और फिर सरसैया घाट से एक स्टीमर पर सवार होकर गंगा में उतर गई। इस दौरान उन्होंने गंगाबैराज तक निरीक्षण किया। गंगा में एक भी नाला नहीं गिरता देख वो गदगद नतर आई। इस मौके पर उमा भारती ने 1984 के दंगे पर खुलकर बोलीं। कहा, कोर्ट ने सज्जन कुमार समेत कई कांग्रेसियों को सजा सुनाई है, जिसके चलते दंगा पीड़ित परिवार को देर से ही सही न्याय मिला। कमलनाथ के बारे में मंत्री ने सीधे नाम लेने के बजाए कहा कि कई नेताओं के हाथ सिखों के ख्ून से रंगे है। इसी के चलते भोपाल में शपथ समारोह में आमंत्रण पत्र मिलने के बाद समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव व बसपा चीफ मायावती नहीं गई।

कांग्रेस ने करवाया था कत्लेआम
केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि 1984 के सिख दंगों में पीड़ितों को न्याय मिलने में देरी का कारण कांग्रेस रही। पर अब एक-एक कर आरोपियों के नाम सामने आ रहे हैं और कोर्ट से उन्हें सजा भी मिल रही है। उमा भारती ने कहा कि हम कांग्रेस मुक्त भारत की बात कर रहे हैं। क्योंकि बात कांग्रेस की सोच मार डालने वाली है। उमा ने बताया कि राजीव गांधी ने कहा था की जब धरती कांपती है तो बड़े-बड़े पेड़ गिर जाते हैं। इसी के बाद सिखों का कत्लेआम किया गया। कांग्रेस को अपनी इस सोंच को बदलना होगा। उमा ने कहा कि 84 के दंगे के आरोपी किसी भी कीमत पर बचने नहीं चाहिए। उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिले।

कमलनाथ ही नहीं कई पर दाग
उमा भारती ने कहा कि सिख दंगों में पूरा गांधी परिवार शामिल रहा। कमलनाथ ही नहीं ऐसे कई बड़े नेता थे, जिन्होंने दंगाईयों का साथ दिया। उस वक्त प्राईवेट मीडिया नहीं थी, जिसके कारण बड़े नेताओं के चेहरे नहीं आए। लेकिन 34 साल से लगातार पीड़ित पक्ष न्यायालय में लड़ता रहा। उमा ने बताया कि 17 दिसंबर को जहां कांग्रेस के तीन मुख्यमंत्री पद की शपथ ले रहे थे, वहीं कोर्ट में उनकी ही पार्टी के नेताओं को सजा का ऐलान हुआ। उमा ने कहा कि दंगा पीड़ितों को हर हाल में न्याय मिलेगा। हर एक आरोपी पर्दे से बाहर आएगा। मोदी सरकार निष्पक्ष और सबका-साथ, सबका-विकास और सबको न्याय के तहत कार्य कर रही है।

अब गंगा के किनारे रात्रि विश्रृम
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सीसामऊ नाला बंद होने से निश्चित है कि मां गंगा की निर्मलता वापस होगी। गंगा के किनारे जो गंदगी है, अब उसे हटाना है। इसलिए आज से यह संकल्प ले रही हूं कि अगले डेढ़ वर्ष तक गंगा किनारे ही रात्रि प्रवास करुंगी। उन्होंने कहा कि वह दिन में भ्रमण पर कहीं भी रहें लेकिन रात्रि प्रवास के लिए हर हाल में निकट के शहर में गंगा किनारे पहुंचेंगी। कहा, गंगा घाट की गंदगी साफ करने के लिए पैदल चलूंगी और जनजागरण करूंगी। उन्होंने बताया कि 2016 से गंगा सफाई का मुख्य अभियान शुरू हुआ था, जिसे 2024 तक पूरा करना है। आने वाले समय गंगा पूरी तरह निर्मल और अविरल दिखेगी। इस संबंध में कई आइआइटी के प्रोफेसरों से मंत्रालय की चर्चा चल रही है। जल्द शहर में ओपेन वर्कशॉप भी होगी।

Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned