तीन साल से बन्द पड़ा हैंडपप, छात्रों को हो रही परेशानी, सामने आया ये सच

प्राथमिक शाला भसेड़ा का मामला

By: balmeek pandey

Updated: 15 Jan 2019, 07:16 PM IST

कटनी/पिपरिया सहलावन. जनपद शिक्षा केन्द्र ढीमरखेड़ा के अंतर्गत आने वाले प्राथमिक शाला भसेड़ा के शाला परिसर में लगा हैंडपंप करीब तीन साल से बन्द पड़ा है। आज तक इस ओर ध्यान नहीं दिये जाने के कारण वहां पर अध्ययनरत छात्रों को अपने घरों से बॉटल में पानी लेकर या काफी दूर गांव से पानी लाकर अपनी प्यास बुझाने मजबूर होना पड़ता है। इस संबंध में शिक्षक लक्ष्मण सिंह और रावेंद्र पटेल ने बताया यहां पर पहले जो हैंडपंप लगा था, उसमें सही पानी न निकलने के कारण उसको ढक्कन लगाकर बन्द करवा दिया गया था। उक्त परिसर पर दूसरा बोर खनन करवाकर हैंडपंप चालू कराने की स्वीकृति संबंधित शिक्षा विभाग द्वारा होने बावजूद आज तक हैंडपंप के अभाव में बच्चों को बाहर से पानी लाने मजबूर होना पड़ता है। साथ ही यहां क्यारियों में लगाये गये पेड़ पौधों में पानी सींचने की समस्या भी होती है, जो कि सूखने की कगार पर हैं।

इनका कहना है
प्राथमिक शाला में बन्द पड़े हैंडपंप का मामला मेरे संज्ञान में है, वहां पर जो बोर पहले हुआ था, वह भठ चुका है। उसके सुधार की गुंजाइश नहीं है। मैंने ढीमरखेड़ा तहसील के शिक्षा विभाग के बीइओ से ब्लॉक के स्कूलों में बन्द पड़े हैंडपपों की सूची लेकर पीएचई कार्यालय कटनी भेज दी है। जैसे ही टेंडर लगेंगे और गाडिय़ों इस ओर आएंगी तो वहां बोर खनन करवाकर हैंडपंप लगवा दिया जाएगा।
बीपी चक्रवर्ती, इंजीनियर, पीएचइ ढीमरखेड़ा।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned