यहां दोषियों को बचाने अधिकारियों पर होती है कार्रवाई, IAS संघ नाराज

यहां दोषियों को बचाने अधिकारियों पर होती है कार्रवाई, IAS संघ नाराज
IAS association

Shribabu Gupta | Publish: Feb, 27 2017 02:26:00 PM (IST) Kishanganj, Bihar, India

बासा के महासचिव सुशील कुमार व कार्यकारी अध्यक्ष सावर भारती द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि...

किशनगंज/पटना। रविवार को केन्द्रीय कार्यकारिणी की बैठक में कई प्रमुख मुद्दों पर चर्चा हुई। इसी दौरान बिहार प्रशासनिक सेवा संघ (बासा) ने नाव हादसा और बीएसएससी पेपर लीक मामले में अपने सदस्यों पर हुई कार्रवाई को लेकर नाराजगी जताई है।

संघ ने नाव हादसे के बाद हटाए गए अधिकारियों की शीघ्र तैनाती की मांग की है। साथ ही बीएसएससी के सचिव परमेश्वर राम पर कार्रवाई को भी गलत करार दिया है। बासा के महासचिव सुशील कुमार व कार्यकारी अध्यक्ष सावर भारती द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि नाव हादसे के बाद हटाए गए पटना के अपर समाहर्ता विधि-व्यवस्था और कंट्रोल रूम प्रभारी को पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया।

जहां तक घटना में चूक की बात है तो इसके लिए सिर्फ प्रशासनिक अधिकारी कैसे दोषी हो सकते हैं। बासा ने सोनपुर के एसडीओ को निलंबन मुक्त करने और हटाए गए अधिकारियों की शीघ्र तैनाती की मांग की है। वहीं बीएसएससी पेपर लीक मामले में तत्कालीन सचिव परमेश्वर राम का भी बासा ने बचाव किया है।

संघ के मुताबिक प्रश्नपत्र छपाई का मामला सचिव के कार्यक्षेत्र में नहीं पड़ता है। प्रश्नपत्र लीक के लिए वह दोषी नहीं हैं, लिहाजा उनपर की गई कार्रवाई न्यायोचित नहीं है। इसके साथ ही निगरानी द्वारा कुछ सदस्यों की गिरफ्तारी को लेकर भी बासा ने सवाल खड़े किए हैं।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned