बंगाल में इलेक्ट्रिक वाहन उद्योग स्थापित होने से हो सकेगा विकास

ममता ने गडकरी से मुलाकात कर परियोजनाओं पर की चर्चा

By: MOHIT SHARMA

Published: 30 Jul 2021, 12:43 AM IST

कोलकाता/नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की और वैश्विक निवेशकों को आमंत्रित करने की कोशिश के तहत राज्य की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं पर उनके साथ चर्चा की।
उन्होंने केंद्रीय मंत्री से कहा कि अच्छा होगा अगर पश्चिम बंगाल में इलेक्ट्रिक वाहन उत्पादन उद्योग स्थापित हो जाए। उन्होंने कहा कि राज्य की सीमा बांग्लादेश, नेपाल, भूटान और पूर्वोत्तर राज्यों से लगती है इसलिए वहां अच्छी सडक़ों की आवश्यकता है।
सूत्रों ने बताया कि ममता ने इस मुलाकात के दौरान, ताजपुर में गहरे समुद्र के बंदरगाह समेत लंबित सडक़ तथा परिवहन परियोजनाओं पर बातचीत की। केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने के लिए बातचीत की शुरूआत करने को लेकर तृणमूल प्रमुख अभी दिल्ली में हैं।
कोलकाता से लगभग 200 किलोमीटर दूर स्थित बंदरगाह में 15,000 करोड़ रुपए का निवेश होने की उम्मीद है और इसके पूरा होने पर राज्य में रोजगार के 25,000 नए अवसर पैदा हो सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने गडकरी से अनुरोध किया है कि अच्छा होगा यदि इलेक्ट्रिक वाहन बनाने के लिए हमारे राज्य में उत्पादन उद्योग स्थापित हों। सूत्रों ने बताया कि ममता पेट्रोलियम, विमानन, रेलवे और वाणिज्य जैसे अहम विभागों के मंत्रियों से भी जल्दी ही मुलाकात करेंगी।
गडकरी के कार्यालय ने ट्वीट किया कि ममता बनर्जी ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की। अधिकारियों की उपस्थिति में उन्होंने राज्य में विभिन्न सडक़ परियोजनाओं की समीक्षा की।

केंद्रीय मंत्री को सौंपी रिपोर्ट
सूत्रों ने यह भी बताया कि तृणमूल नेता ने प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तीसरे चरण के तहत राज्य में ग्रामीण सडक़ों के निर्माण पर केंद्रीय मंत्री को एक रिपोर्ट भी सौंपी। ममता ने कहा कि ट्रांसपोर्ट और रोड कनेक्टिविटी के बारे में चर्चा हुई। हमारे राज्य की सीमा बांग्लादेश, नेपाल और भूटान से सटी है। उत्तर-पूर्व का भी गेटवे है। तूफान से सडक़ें खराब हो गई हैं, उसे ठीक करना। ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद कर सके, इसे लेकर चर्चा हुई। अच्छी बैठक रही। यदि हम राज्य में एलिवेटेड रोड और फ्लाईओवर भी बनाएं तो इंडो-बांग्लादेश के लिए भी अच्छा होगा। व्यवसाय की दृष्टि से भी अच्छा होगा। मैंने अपनी तरफ एक विनिर्माण उद्योग के लिए भी निवेदन किया। इसके बारे में चर्चा हुई।

BJP
MOHIT SHARMA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned