कोलकाता हाईकोर्ट के आदेश पर अस्पताल ने महिला रोगी को छोड़ा

Krishna Das Parth

Publish: Feb, 15 2018 11:52:19 PM (IST)

Kolkata, West Bengal, India
कोलकाता हाईकोर्ट के आदेश पर अस्पताल ने महिला रोगी को छोड़ा

निजी अस्पताल के अमानविक रवैया से कोर्ट हुआ नाराज
-तत्काल महिला को छोडऩे का दिया निर्देश


एक बार फिर निजी अस्पताल का अमानविक रवैया सामने आया है। अस्पताल का मुंहमांगा बिल चुका न पाने के कारण साल्टलेक स्थित कोलंबिया एशिया अस्पताल ने एक मरीज को 50 दिनों तक अस्पताल में ही रोके रखा। अंतत: कलकत्ता हाईकोर्ट के निर्देश के बाद मरीज वंदना बागची को गुरुवार को दोपहर 1 बजे कोलंबिया एशिया ने छोड़ दिया। सांस की बीमारी लेकर 72 वर्षीय वंदना बागची अस्पताल में दाखिल हुई थी। उन्हें 26 दिसंबर को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। उस वक्त बिल बाबत 5 लाख रुपये मांगे गए थे। बंदवादेवी के परिवार ने 1 लाख 10 हजार चुकाया था। उनका कहना था कि बाकी रुपये वे किश्तों पर चुका देंगे। परिवार लिखित तौर पर बकाया चुकाने को लेकर देने को तैयार था। मगर अस्पताल ने वंदनादेवी को अस्पताल में ही कैद कर रखा। उन्हें दवा नहीं दी गई। यहां तक खाना भी नहीं दिया गया। 50 दिनों तक वे घूंट घूंटकर जीती रही। परिवार ने पुलिस से लेकर स्वास्थ्य आयोग से भी इसकी शिकायत की थी। पर कोई फायदा नहीं हुआ था। अंतत: उन्होंने हाईकोर्ट की शरण ली। गुरुवार को न्यायाधीश जयमाल्य बागची ने अस्पताल के इस रवैये को अमानविक करार दिया। उन्होंने कहा बिल न चुकाना अलग बात है। अस्पताल इसके लिए कानून का दरवाजा खटखटा सकता था। पर किसी को कैद कर रखना उसके अधिकारों का हनन है। उन्होंने निर्देश दिया कि दोपहर 1 बजे तक मरीज को अस्पताल से छोड़ दिया जाए। अदलात ने 2 बजे रिपोर्ट दायर करने को कहा था। अंत में हाईकोर्ट के दबाव में वंदन बागची अस्पताल से घर पहुंच सकी।

--
नशे में धूत 5 युवकों ने ढाबे में की तोडफ़ोड़

-सभी आरोपी हुए गिरफ्तार


अलीपुर स्थित एक ढाबे में बुधवार रात 1 बजे शराब के नशे में धूत युवकों ने हंगामा मचाया व तोडफ़ोड़ की। ढाबे के क र्मचारियों की गवाही व सीसीटीवी फुटेज की मदद से गुरुवार सुबह 10.30 बजे इस घटना में 5 युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। ढाबे के कर्मचारियों ने बताया कि बुधवार रात जब ढाबा बंद होने जा रहा था तब ५ युवक खाना खाने के नाम पर ढाबे में घुस गए। ढाबे के कर्मचारियों ने युवकों को पहले ही मना कर दिया था कि ढाबा बंद हो गया है, अब उन्हें कुछ नहीं मिल सकता। इस पर युवकों ने मारपीट शुरू कर दी। युवकों ने ढाबे के कई कर्मचारियों को पीटा व तोडफ़ोड़ करनी शुरू कर दी। ढाबे के मालिक ने अलीपुर थाने में फोन किया। ढाबे के कर्मचारियों की मदद से एक युवक को पकड़ लिया गया। बाद में सीसीटीवी फुटेज से गुरूवार सुबह साढ़े 10.30 बजे अन्य 4 युवकों को भी गिरफ्तार कर लिया गया। ये सभी आस-पास के रहने वाले हैं।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned