पहली ट्रांसजेंडर प्रिंसिपल मानवी ने दिया इस्तीफा - कहा, थक चुकी हूं, विरोध का सामना करते-करते

देश की पहली ट्रांसजेंडर प्रिंसिपल मानवी बंद्योपाध्याय ने लगभग डेढ़ साल काम करने के बाद इस्तीफा दे दिया है।

By: Paritosh Dube

Published: 30 Dec 2016, 05:07 PM IST

कृष्णनगर. देश की पहली ट्रांसजेंडर प्रिंसिपल मानवी बंद्योपाध्याय ने लगभग डेढ़ साल काम करने के बाद इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने इस्तीफे की वजह बताते हुए कहा है कि शिक्षकों और विद्यार्थियों का एक गुट उनके साथ असहयोग कर रहा है जिससे वह मानसिक तौर पर काफी परेशान हो चुकी हैं। पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के कलक्टर सुमित गुप्ता ने कहा है कि उनके पास मानवी ने इस्तीफे का पत्र भेजा है।

उन्होंने बताया कि कृष्णनगर महिला कॉलेज की प्रिसिंपल मानवी ने गत 27 दिसंबर को पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने इस्तीफे का पत्र राज्य के उच्च शिक्षा विभाग के पास भेज दिया है। मानवी ने अपने इस्तीफे के बारे में बताया है कि उन्होंने 9 जून, 2015 को महिला कॉलेज के प्रिंसिपल का पद संभाला था, तबसे ही शिक्षकों के एक गुट ने उनसे असहयोग करना शुरू कर दिया जिसका सामना करते-करते वह थक चुकी हैं।
दूसरी तरफ, शिक्षकों ने प्रिंसिपल के आरोपों को खारिज करते हुए उल्टे उन पर ही असहयोग करने का आरोप लगाया। शिक्षकों और प्रिंसिपल के बीच विवाद की जांच और सच्चाई का पता लगाने के लिए हाल ही में ज्वाइंट डायरेक्टर ऑफ पब्लिक इंस्ट्रशन आरपी भट्टाचार्य की अगुवाई में चार सदस्यीय टीम ने कॉलेज का दौरा किया था। मानवी ने कहा कि सहकर्मी मेरे विरोध में चले गए। कुछ विद्यार्थी भी मेरे खिलाफ थे। मैंने कॉलेज में अनुशासन लाने की कोशिश की और शिक्षा का माहौल बनाना चाहा। शायद इसलिए सब मेरा विरोध करने लगे। मुझे प्रशासन का साथ मिला, लेकिन शिक्षकों और विद्यार्थियों ने कभी मेरा साथ नहीं दिया। मानवी ने कहा कि मैं बहुत ज्यादा मानसिक दबाव झेल रही हूं और इसे मैं और झेल नहीं सकती इसलिए मैंने पद से इस्तीफा दे दिया। मुझे कई कानूनी नोटिस भेजे गए। मैं इस कॉलेज में नई आशा और सपनों के साथ आई थी लेकिन अब मैं हार चुकी हूं।


पहले जानी जाती थी सोमनाथ

51 साल की मानवी पहले सोमनाथ के नाम से जानी जाती थीं। 2003-04 में मानवी कई ऑपरेशन से गुजरने के बाद महिला बनीं। 1995 में उन्होंने देश की पहली ट्रांसजेंडर मैगजीन निकालनी शुरू की जिसका नाम था -ओब-मानव
Paritosh Dube Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned