तत्कालीन गृहमंत्री कंवर बोले- मैं नार्को टेस्ट के लिए तैयार, झीरम घाटी की फायरिंग में लखमा कैसे बच गए? इसकी हो जांच...

पूर्व गृहमंत्री ने कांग्रेस पर लगाया माओवादी से सांठगांठ का आरोप

कोरबा. झीरम घाटी कांड के समय छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रहे ननकीराम कंवर नार्को टेस्ट के लिए तैयार हो गए हैं। लेकिन प्रदेश के उद्योग और आबकारी मंत्री कवासी लखमा पर तीखा हमला करते हुए कहा कि झीरम में जब फायरिंग चल रही थी, तब उन्होंने क्यों कहा कि मैं कवासी लखमा हूं। ननकी ने दावा किया कि लखमा के परिचय देने के बाद झीरम में फायरिंग बंद हो गई थी। इसके बाद लखमा को नक्सलियों ने पकड़ लिया था। वे कैसे बच गए?
सोमवार को पूर्व गृहमंत्री व रामपुर से भाजपा विधायक ननकीराम कंवर जिला खनिज न्यास की बैठक में शामिल होने कोरबा कलेक्टोरेट पहुंचे थे। झीरम घाटी मामले में मीडिया ने तत्कालीन गृहमंत्री कंवर से नार्को टेस्ट पर सवाल किया। कंवर ने कहा कि मैं तत्कालीन सीएम के बारे में नहीं कह सकता हूं, लेकिन मैं नार्को टेस्ट के लिए तैयार हूं। कंवर ने कहा कि लखमा से पूछा जाए झीरम में जब फायरिंग चल रही थी, तब लखमा ने क्यों कहा? मैं कवासी लखमा हूं। कंवर ने कहा कि लखमा के परिचय देने के बाद झीरम घाटी में फायरिंग बंद हो गई थी। नक्सलियों से लखमा को पकड़ लिया था। फिर लखमा बच कैसे गए? इसका मतलब है कहीं न कहीं कांग्रेस का नक्सलियों से संबंध है।

READ MORE : खूनी संघर्ष में घायल पुत्र की मौत, एक दिन पहले हमलावरों पिता को भी मार डाला था

कंवर ने कहा कि इसकी भी जांच होनी चाहिए। कंवर यहीं नहीं रूके। उन्होंने कवासी लखमा को नक्सलियों का समर्थक कह दिया। हांलाकि ननकीराम यह नहीं बता सके नार्को टेस्ट के बाद झीरम घाटी कांड की सच्चाई सामने आएगी या नहीं। उन्होंने जांच के विषय में कुछ भी बोलने से इंनकार कर दिया।
गौरतलब है कि कवासी लखमा ने झीरम कांड को राजनीतिक हत्या करार दिया था। इसकी सच्चाई जानने के लिए तत्कालीन मुख्यमंत्री, गृहमंत्री और अन्य जिम्मेदारों की नार्को टेस्ट कराने की मांग की थी। लखमा ने कहा कि था कि उनका नाम राजनीतिक वजह से घसिटा जा रहा है। भाजपा नेता शिव नारायण द्विवेदी ने लखमा के नार्को टेस्ट कराने की मांग उठाई थी। इसका जवाब देते हुए लखमा ने कहा था कि मैं नार्को टेस्ट के लिए तैयार हूं।
25 मई 2013 को कांग्रेस के परिवर्तन यात्रा पर झीरम झाटी में हमला हुआ था। इसमें पार्टी के तत्कालीन प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार पटेल, वरिष्ट नेता विद्याचरण शुक्ल सहित 29 लोगों की मौत हुई थी।

Vasudev Yadav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned